• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • फ्लिपकार्ट-एबीएफआरएल सौदे की मुश्किलें बढ़ीं! DPIIT ने खत लिखकर आरबीआई और ईडी काे जल्‍द कार्रवाई करने को कहा

फ्लिपकार्ट-एबीएफआरएल सौदे की मुश्किलें बढ़ीं! DPIIT ने खत लिखकर आरबीआई और ईडी काे जल्‍द कार्रवाई करने को कहा

सुबह 6 बजे से आधी रात के बीच वाे जब चाहेंगे सामान उस वक्त डिलीवर हाे जाएगा

सुबह 6 बजे से आधी रात के बीच वाे जब चाहेंगे सामान उस वक्त डिलीवर हाे जाएगा

केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग राज्यमंत्री सोम प्रकाश ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में कहा कि इस मामले में आरबीआई (RBI) या प्रवर्तन निदेशालय (ED) की ओर से कोई जांच शुरू नहीं की गई है. व्‍यापारियों के संगठन कैट ने फ्लिपकार्ट (Flipkart) व आदित्य बिड़ला फैशन एंड रिटेल (ABFRL) के बीच 1,500 करोड़ रुपये के सौदे में एफडीआई नीति के उल्लंघन का आरोप लगाया था.

  • Share this:

    नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अभी तक फ्लिपकार्ट व आदित्य बिड़ला फैशन एंड रिटेल (ABFRL) के बीच 1,500 करोड़ रुपये के सौदे में कथित एफडीआई नीति के उल्लंघन की जांच शुरू नहीं की है. इसे लेकर डिपार्टमेंट ऑफ प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (DPIIT) की डिप्टी डायरेक्टर मीरा सेठी ने 22 दिसंबर 2020 को आरबीआई और ईडी को पत्र लिखकर मामले में जल्द कार्रवाई करने की बात कही है.

    केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग राज्यमंत्री सोम प्रकाश ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में कहा कि इस मामले में आरबीआई या प्रवर्तन निदेशालय की ओर से कोई जांच शुरू नहीं की गई है. डीपीआईआईटी के पत्र में कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया टृेडर्स (CAIT) के आरोपों का जिक्र किया गया था कि एफडीआई के प्रमुख खिलाड़ियों द्वारा किराने की बहु-ब्रांड खुदरा बिक्री के लिए विनिर्माण में एफडीआई नीति का दुरुपयोग किया जा रहा है. विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 के विभिन्‍न उल्लंघनों के लिए भी अमेजन (Amazon) के खिलाफ शिकायत हुई है.

    ये भी पढ़े – RBI की बजट के बाद 16 फरवरी को होने वाली बैठक में हिस्‍सा लेंगी FM निर्मला सीतारमण, जानें किन मुद्दों पर होगी बात

    कैट ने लगाए हैं ये आरोप
    सीएआईटी ने सौदे में एफडीआई नीति के उल्लंघन का हवाला देते हुए आरोप लगाया था कि फ्लिपकार्ट का अपने बाजार पर एबीएफआरएल को पसंदीदा विक्रेता बनाने का स्पष्ट इरादा है. परिसंघ ने तर्क दिया कि एफडीआई नीति एक विदेशी कंपनी को अपने ब्रांडप्लेस प्लेटफॉर्म पर विक्रेताओं में किसी भी तरह के इक्विटी हितों के साथ या प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से साइड एग्रीमेंट्स के माध्यम से उनकी इन्वेंट्री या किसी भी प्रकार के मल्टी-ब्रांड रिटेल ट्रेडिंग में उद्यम करने पर रोक लगाती है.

    ये भी पढ़ें- गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा ऐलान! अब तक वंचित रहे इस राज्‍य के किसानों को PM-KISAN के तहत मिलेंगे 18,000 रुपये

    एबीएफआरएल ने फ्लिपकार्ट में हिस्सेदारी बेचने की घोषणा की थी
    आदित्य बिड़ला फैशन एंड रिटेल (ABFRL) ने अक्टूबर 2020 में फ्लिपकार्ट ग्रुप में 7.8 फीसदी इक्विटी हिस्सेदारी बेचने की घोषणा की थी, जिसे जनवरी में प्रतिस्पर्धा आयोग ने मंजूरी दे दी थी. ABFRL रिटेल और डिपार्टमेंटल स्टोर्स, मल्टी-ब्रैंड आउटलेट्स, ई-कॉमर्स सहित कई मल्टीपल फॉर्मेट के माध्यम से एपियरल्स, एसेसरीज और फुटवियर का निर्माण व बिक्री करता है. सोम प्रकाश ने संसद के ऊपरी सदन में कहा कि सीएआईटी की ओर से ई-कॉमर्स वेबसाइटों से की गई खरीदारी के लिए बैंकों की पक्षपाती नीति की शिकायत की जा रही है. नवंबर 2020 में अमेजन, फ्लिपकार्ट से ई-कॉमर्स की खरीद पर कैशबैक और छूट की पेशकश करने वाले कथित बैंक व्यापारियों और उपभोक्ताओं के मौलिक अधिकारों के उल्लंघन के लिए प्रेरित कर रहे थे. कैट ने बैंकों पर अनुचित व्यवहार को बढ़ावा देने के लिए अमेजन और फ्लिपकार्ट के साथ एक कार्टेल बनाने का आरोप लगाया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज