होम /न्यूज /व्यवसाय /मंदी की आशंका! डॉलर के मुकाबले ब्रिटिश पाउंड 40 साल के निचले स्तर पर पहुंचा

मंदी की आशंका! डॉलर के मुकाबले ब्रिटिश पाउंड 40 साल के निचले स्तर पर पहुंचा

डॉलर के मुकाबले अन्य करेंसी भी कमजोर हुई हैं क्योंकि अमेरिका के केंद्रीय बैंक ने हाल ही अपने यहां महंगाई से निपटने के लिए ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है.

डॉलर के मुकाबले अन्य करेंसी भी कमजोर हुई हैं क्योंकि अमेरिका के केंद्रीय बैंक ने हाल ही अपने यहां महंगाई से निपटने के लिए ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है.

शुक्रवार को भी ब्रिटिश पाउंड 3 फीसदी से अधिक टूटा था. पाउंड फिलहाल 1980 के दशक की शुरुआत में देखे गए स्तरों पर कारोबार ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. ब्रिटेन की नई सरकार की तरफ से टैक्स में कटौती और खर्च को बढ़ावा देने की योजना सामने आने के बाद सोमवार को अमेरिकी डॉलर (US Dollar) के मुकाबले ब्रिटिश पाउंड (British Pound) में तेज गिरावट हुई. पाउंड सोमवार को शुरुआती कारोबार में गिरकर 1.0349 प्रति अमेरिकी डॉलर के निचले स्तर तक पहुंच गया, जो डॉलर के मुकाबले पिछले 40 साल में सबसे निचले स्तर पर है.

लोगों के रहन-सहन की लागत और बढ़ जाएगी
हालांकि बाद में इसमें थोड़ा सुधार हुआ और यह 2.3 फीसदी कमजोरी के साथ 1.0671 प्रति डॉलर के भाव पर था. दरअसल टैक्स कटौती की योजना से सामने आने के बाद ऐसी चिंताएं जताई रही हैं कि इससे सार्वजनिक उधारी बढ़ जाएगी और मंदी आ सकती है, जिससे लोगों के रहन-सहन की लागत और बढ़ जाएगी.

ये भी पढ़ें- 2008 के आर्थिक संकट की भविष्यवाणी करने वाले अर्थशास्त्री ने अब ‘लंबी और बेहद खराब’ मंदी की जताई आशंका

डॉलर के मुकाबले अन्य करेंसी भी कमजोर
शुक्रवार को भी ब्रिटिश पाउंड 3 फीसदी से अधिक टूटा था. पाउंड फिलहाल 1980 के दशक की शुरुआत में देखे गए स्तरों पर कारोबार कर रहा है. हालांकि, इस दौरान डॉलर के मुकाबले अन्य करेंसी भी कमजोर हुई हैं क्योंकि अमेरिका के केंद्रीय बैंक ने हाल ही अपने यहां महंगाई से निपटने के लिए ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है.

" isDesktop="true" id="4653625" >

जापान की करेंसी येन में भी गिरावट
जापान की करेंसी येन में भी पिछले हफ्ते डॉलर के मुकाबले गिरावट देखी गई थी, जिसके बाद जापान के केंद्रीय बैंक ने हस्तक्षेप कर येन में गिरावट की रफ्तार को धीमा किया.

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया ऑल टाइम लो लेवल पर
वहीं, डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट जारी है. सोमवार, 26 सितंबर को एक डॉलर की कीमत 81 रुपये 58 पैसे तक पहुंची गई. आज रुपया पिछले बंद 80.99 के मुकाबले 81.55 के स्तर पर खुला. यह शुक्रवार के बंद हुए भाव से 56 पैसे कमजोर था. 3 कारोबारी सत्रों में डॉलर के मुकाबले रुपया 1 रुपया 70 पैसे कमजोर हुआ है. डॉलर इंडेक्स 20 साल से ज्यादा की ऊंचाई पर पहुंचा गया है. रुपये में आई गिरावट से देश का आयात बिल बढ़ रहा है. इससे देश में महंगाई बढ़ने की आशंका पैदा हो गई है.

Tags: Dollar, Recession

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें