अब ऑनलाइन नहीं मिलेंगी एंटीबायोटिक दवाएं, सरकार ला रही है नया कानून

सरकार ई-फॉर्मेसीज को कानूनी मान्यता देने वाले कानून का अंतिम मसौदा तैयार कर लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2019, 1:48 PM IST
  • Share this:
प्रतीक श्रीवास्तव

हो सकता है आप ऑनलाइन दवा बेचने वाली वेबसाइटों से कई महत्वपूर्ण एंटीबायोटिक दवाएं न खरीद पाएं. सीएनबीसी आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक सरकार ई-फॉर्मेसीज को को कानूनी मान्यता देने वाले कानून का अंतिम मसौदा तैयार कर लिया है. इसके तहत ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के साइकोट्रॉफिक और नारकोटिक ड्रग की सूची वाले सेड्यूल X के साथ ही सेड्यूल एच-1 में मौजूद दवाओं को बेचने का हक ई-फॉर्मेसीज से छीना जा सकता है. (ये भी पढ़ें: अब एक्स-रे, खून जांच पर लापरवाही पड़ेगी भारी, पैथोलॉजी टेस्ट पर बनेगा कानून)

प्वाइंटर्स-



>> प्रिस्क्रिपशन में मौजूद सभी दवाएं ऑनलाइन खरीदना हो सकता है मुश्किल
>> ऑनलाइन सेड्यूल एच 1 और सेड्यूल X की दवा बेचना गैरकानूनी बन सकता है
>> सेड्यूल एच 1 में कई महत्वूपूर्ण एंटीबायोटिक औऱ एचआईवी की दवाएं शामिल
>> सेड्यूल X में साइकोट्रॉफिक और नारकोटिक दवाएं शामिल हैं
>> दवा डिलिवरी की तारीख मरीज को बतानी होगी
>> बताए गए समय के भीतर दवा मरीज तक पहुंचानी होगी
>> डेटा प्राइवेसी ई फॉर्मेसी चलाने वाली कंपनी की जिम्मेदारी
>> कंपनी का डेटा औऱ सर्वर भारत में ही होना चाहिए
>> 2 स्टेट में प्रतिबंधित होने पर भी बाकी राज्यों में बेची जा सकेगी दवा
>> ऑनलाइन दवा बेचने वाली कंपनियों की तय होगी जिम्मेदारी
>> खुद को प्लेटफॉर्म बता कर बच नहीं सकते
>> पर्चे की जांच के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को भी फॉर्मासिस्ट रखने होंगे
>> प्रिस्क्रिपशन की सीधे वेंडर या केमिस्ट के हवाले नहीं किया जा सकेगा
>> सूत्रों के हवाले से सीएनबीसी-आवाज़ की एक्सक्लूसिव खबर

(संवाददाता, सीएनबीसी-आवाज़)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज