28% GST का दौर खत्म हो रहा है- अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि 28% GST का दौर खत्म हो रहा है. भविष्य में जीएसटी के सिंगल स्टैंडर्ड रेट पर काम होगा.

News18Hindi
Updated: December 24, 2018, 5:05 PM IST
28% GST का दौर खत्म हो रहा है- अरुण जेटली
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि 28% GST का दौर खत्म हो रहा है. भविष्य में जीएसटी के सिंगल स्टैंडर्ड रेट पर काम होगा.
News18Hindi
Updated: December 24, 2018, 5:05 PM IST
गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि 28% GST का दौर खत्म हो रहा है. भविष्य में जीएसटी के सिंगल स्टैंडर्ड रेट पर काम होगा. ‘जीएसटी के 18 महीने’ नाम से ब्लॉग में जेटली ने लग्जरी और सिन प्रोडक्ट्स को अपवाद बताते हुए कहा कि देश में जीएसटी के 0, 5 और स्टैंडर्ड रेट टैक्स स्लैब होंगे. 12 और 18 फीसदी के स्लैब की जगह नया स्लैब आएगा जो दोनों के बीच होगा. बता दें कि शनिवार को जीएसटी काउंसिल की 31वीं बैठक में 33 प्रोडक्ट्स पर जीएसटी की दरें घटा दी गई थीं. 28 फीसदी स्लैब से 6 प्रोडक्ट कम हुए हैं. 28 फीसदी वाले स्लैब में अब 28 प्रोडक्ट बचे हैं. (ये भी पढ़ें: नए साल में शॉपिंग से पहले देख लें ये लिस्ट, सस्ते हो गये प्रोडक्ट्स)

पहले टैक्स सिस्टम में थी खामियां- वित्त मंत्री ने कहा कि भारत का इनडायरेक्ट टैक्स सिस्टम दुनिया में सबसे खराब था. केंद्र और राज्य सरकारों को लेवी वसूलने का अधिकार था. 17 टैक्स लगाए जाते थे. एक उद्यमी को 17 इंस्पेक्टर का सामना करना पड़ता था और 17 रिटर्न भरना पड़ता था, 17 असेसमेंट होते थे. टैक्स की दरें भी ज्यादा थीं. वैट और एक्साइज का स्टैंडर्ड रेट 14.5 और 12.5 फीसदी था. ऐसे में ज्यादातर वस्तुओं पर टैक्स 31 फीसदी हो जाता था. जीएसटी लागू होते ही सभी 17 टैक्स 1 बन गए. पूरे देश में एक व्यवस्था लागू हुई.


GST काउंसिल द्वारा 33 वस्‍तुओं पर जीएसटी की दर कम करने के बाद अब आम लोगों के सपने को पूरा करने की तैयारी में है. अगले महीने होने वाली बैठक में ऐसे मकानों पर जीएसटी दर घटाने की तैयारी है जो या तो बन रहे हैं और या फिर कंप्‍लीशन (निर्माण कार्य सम्‍पन्‍न होने का प्रमाण पत्र) का इंतजार कर रहे हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक वस्‍तु एवं सेवा परिषद मकान पर लगने वाले 12 प्रतिशत जीएसटी को घटाकर 5 प्रतिशत कर सकती है. इस तरह से उपभोक्‍ताओं को 7 प्रतिशत तक की छूट मिलेगी. (ये भी पढ़ें: चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार दे सकती है आपको तोहफा, मकान खरीदने पर देगी 7% की छूट)

जानिए कौन-कौन सा सामान हुआ सस्‍ता-

28 फीसदी से 18 फीसदी के दायरे में लाए गए प्रोडक्ट-

वाहनों की पुली, ट्रांसमिशन सॉफ्ट और क्रैंक, गेयर बॉक्स आदि, 32 इंच तक के मॉनिटर और टीवी, पुराने या रीट्रिडेड न्यूमेटिक रबर के टायर, लिथियम आयन बैटरी वाले पावर बैंक, डिजिटल कैमरे और वीडियो कैमरा रिकॉर्डर, वीडियो गेम से जुड़े उपकरण एवं खेल में इस्तेमाल में लाए जाने वाले अन्य सामान
Loading...

28 फीसदी से 5 फीसदी के दायरे में लाए गए प्रोडक्ट-

दिव्यांगों केलिए बनाए जाने वाले वाहनों के कल-पुर्जे

18 फीसदी से 5 फीसदी के दायरे में लाए गए प्रोडक्ट-

संगमरमर के दाने

12 फीसदी से 5 फीसदी के दायरे में लाए गए प्रोडक्ट-

प्राकृतिक कॉर्क, हाथ की छड़ी, फ्लाई एश से बने ब्लॉक
First published: December 24, 2018, 11:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...