इकॉनमी को पटरी पर लाने के लिए आज कई बड़े ऐलान कर सकती हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ऑटोमोबाइल, एनबीएफसी, बैंकिंग, रियल एस्टेट तथा अन्य सेक्टर्स के लिए कई बड़े ऐलान कर सकती हैं.

News18Hindi
Updated: September 14, 2019, 11:14 AM IST
इकॉनमी को पटरी पर लाने के लिए आज कई बड़े ऐलान कर सकती हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
अर्थव्यवस्था को सुस्ती से निकालने के लिए बड़े ऐलान कर सकती हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
News18Hindi
Updated: September 14, 2019, 11:14 AM IST
नई दिल्ली. आर्थिक सुस्ती (Economy) को लेकर पिछले कुछ दिनों से आलोचना का सामना कर रही केंद्र सरकार अब कमर कसती दिखाई दे रही है. अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए मोदी सरकार (Modi Government) एक बार फिर कई अहम घोषणा कर सकती है. नेशनल मीडिया सेंटर में वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) आज कई अहम घोषणा का ऐलान कर सकती हैं. इस बात की जानकारी पीआईबी ने ट्वीट कर दी है. सूत्रों के मुताबिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में वित्त मंत्री ऑटोमोबाइल (Automobile), एनबीएफसी (NBFC), बैंकिंग (Banking), रियल एस्टेट (Real Estate) और अन्य सेक्टर्स के लिए कई बड़े ऐलान कर सकती हैं. इसके अलावा वित्त मंत्री CBDT द्वारा नोटिफाई फेसलेस आईटी असेसमेंट की भी घोषणा कर सकती हैं.

पिछले कुछ समय से मंदी का सामना कर रहे सेक्टरों के लिए वित्त मंत्री पहले भी कई अहम घोषणाएं कर चुकी है. इसमें जीएसटी रिफंड (GST Refund), बैंकों को 70 हजार रुपये की आर्थिक सहायता, ऑटो इंडस्ट्री (Auto Industry) को राहत देने जैसे कई अहम कदम शामिल हैं. शेयर बाजार की स्थिति मजबूत करने के लिए वित्त मंत्री ने फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPI) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) पर बढ़े सरचार्ज को भी वापस लेने का ऐलान किया है.



गौरतलब है कि अर्थव्यवस्था में सुस्ती को लेकर विपक्ष सरकार पर लगातार हमलावर है. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि केंद्र सरकार ने जिस तरह से नोटबंदी की और जीएसटी जैसी नीतियों को लाने का काम किया है उसके कारण ही अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है. उन्होंने कहा कि सरकार यह तक स्वीकार करने को तैयार नहीं है कि देश की अर्थव्यवस्था संकट में घिर गई है. पूर्व प्रधानमंत्री ने सरकार से कहा है कि वह अखबारों की सुर्खियों से बाहर निकलकर आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाए.

economic downturn in India, Chhattisgarh, Automobile sector
पिछले कुछ समय से मंदी का सामना कर रहे सेक्टरों के लिए वित्त मंत्री पहले भी कई अहम घोषणाएं कर चुकी है.


मनमोहन सिंह ने सलाह देते हुए कहा है कि जीएसटी को तर्कसंगत करना होगा, भले ही थोड़े समय के लिए टैक्स का नुकसान हो. ग्रामीण खपत बढ़ाने और कृषि को पुनर्जीवित करने के लिए नए तरीके खोजने होंगे. कांग्रेस के घोषणा-पत्र में ठोस विकल्प हैं, जिसमें कृषि बाजारों को फ्री करके लोगों के पास पैसा लौट सकता है.

ये भी पढ़ें: SBI ग्राहकों को तोहफा! 1 अक्टूबर से सस्ती हो जाएंगी ATM समेत ये सर्विसेस

ये भी पढ़ें-छोटे कर्जदारों को राहत देगी मोदी सरकार, बैंक नहीं करेंगे परेशान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 14, 2019, 6:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...