वित्त मंत्री ने टैक्स नहीं भरने वालों के खिलाफ दिया ये सख्त कदम उठाने का आदेश

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि जो व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करते हैं, आपको (टैक्स अधिकारियों) उनपर नजर रखनी होगी, और उन पर सख्त कार्रवाई करनी होगी.

News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 7:10 PM IST
वित्त मंत्री ने टैक्स नहीं भरने वालों के खिलाफ दिया ये सख्त कदम उठाने का आदेश
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 7:10 PM IST
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को टैक्स अधिकारियों से कहा कि वह ईमानदारी से टैक्स का भुगतान करने वालों के लिये चीजें सरल बनाने में मदद करें. अगर कोई टैक्स चोरी और व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करता है तो उससे कड़ाई से निपटें. वित्त मंत्री ने जोर देते हुए कहा कि टैक्सदाताओं को टैक्स भुगतान को सजा के रूप में नहीं बल्कि उनकी तरफ से देश निर्माण में दिये जाने वाले योगदान के रूप में लेना चाहिए. उन्होंने टैक्स चोरी टैक्सने वालों को पकड़ने के लिये राजस्व विभाग की तीनों जांच इकाइयों से आपस में सूचनाओं को साझा करने को भी कहा है.

आय टैक्स दिवस समारोह में यहां अधिकारियों को संबोधित करते हुए सीतारमण ने कहा कि टैक्स आधार को मौजूदा आठ करोड़ से आगे बढ़ाने के लिये प्रयास किये जाने चाहिए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी चाहते हैं कि टैक्स आधार बढ़ना चाहिये. उन्होंने यह भी कहा कि 2019-20 के बजट में प्रत्यक्ष टैक्स संग्रह 13.35 लाख करोड़ रुपये रहने का लक्ष्य रखा गया है जो आसानी से प्राप्त किया जा सकता है. टैक्स विभाग ने पिछले पांच साल में टैक्स संग्रह दोगुना किया है.

वित्त मंत्रालय


वित्त मंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश- सीतारमण ने कहा, ‘‘जो व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करते हैं, आपको (टैक्स अधिकारियों) उनपर नजर रखनी होगी. आपके पास आंकड़े हैं, उनका विश्लेषण टैक्स आप वहां पहुंचे जहां गड़बडी हो रही है, और अगर आप उन लोगों के साथ कड़ाई से पेश आते हैं, मैं आपके साथ हूं.

अधिक कमाई वालों को चुकाना ही होगा ज्यादा टैक्स- उन्होंने यह भी कहा कि अगर टैक्सदाता टैक्स चोरी नहीं टैक्स रहे हैं, तब टैक्स अधिकारियों की तरफ से उन्हें बेहतर सुविधाओं के साथ अच्छी सेवा मिलनी चाहिए. अधिक कमाई करने वाले व्यक्तियों पर ऊंची दर से टैक्स लगाने को उचित ठहराते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि यह सजा के तौर पर नहीं लिया जाता है बल्कि इसके पीछे सोच यह है कि जो अधिक कमाते हैं, वे देश निर्माण में अधिक योगदान टैक्स सकते हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हम अधिक कमाई करने वालों को दंडित नहीं टैक्स रहे. हम आय या संसाधन का बेहतर वितरण टैक्सना चाहते हैं और इसके लिये टैक्स संग्रह की जरूरत है. सीतारमण ने कहा, ‘‘देश अधिक टैक्स लेता है क्योंकि हम उन लोगों के बीच इसका वितरण करना चाहते हैं जो अपने लिये उस तरह से कमाई टैक्सने में असमर्थ हैं.

वित्त मंत्रालय

Loading...

वित्त मंत्री ने 2019-20 के बजट में 2 से 5 करोड़ रुपये की सालाना आय वाले लोगों पर सरचार्ज 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत तथा 5 करोड़ रुपये से अधिक की कमाई वालों पर 15 प्रतिशत से टैक्स बढ़ाकर 37 प्रतिशत कर दिया है.

वित्त मंत्री ने टैक्स अधिकारियों से हालांकि यह भी कहा कि लगातार टैक्स चोरी करने वाले तथा व्यवस्था से खेलने वालों के साथ भी वे संवेदनशीलता के साथ व्यवहार करें.

उन्होंने कहा, ‘‘अगर पिछले पांच साल में आप टैक्स संग्रह दोगुना टैक्स सकते हैं, तो इस साल हमने जो लक्ष्य दिया है, वह इस लिहाज से कुछ भी ज्यादा नहीं है. इसलिये 11.8 लाख करोड़ रुपये और 13 लाख करोड़ रुपये के बीच थोड़ा सा ही अंतर है. आपको बड़ा लक्ष्य नहीं दिया गया है. प्रत्यक्ष टैक्साधान से जुड़े लोगों को जो लक्ष्य दिया गया है, वह पूरी तरह प्राप्त करने योग्य है. हम सभी यहां इसे आसान बनाने के लिये हैं.
First published: July 24, 2019, 7:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...