वित्त मंत्री ऑटो, रियल्टी और इंडस्ट्री के बड़े अधिकारियों से करेंगी मुलाकात

ऑटो सेक्टर के बिगड़ते हालात को लेकर सरकार गंभीर हो गई है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 7 अगस्त को ऑटो कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ मुलाकात करेंगी. बैठक में ऑटो सेक्टर की सेल्स बढ़ाने को लेकर बातचीत होगी

News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 3:28 PM IST
वित्त मंत्री ऑटो, रियल्टी और इंडस्ट्री के बड़े अधिकारियों से करेंगी मुलाकात
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 7 अगस्त को ऑटो कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ मुलाकात करेंगी
News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 3:28 PM IST
ऑटो सेक्टर के बिगड़ते हालात को लेकर सरकार गंभीर हो गई है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 7 अगस्त को ऑटो कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ मुलाकात करेंगी. बैठक में ऑटो सेक्टर की सेल्स बढ़ाने को लेकर बातचीत होगी. इसके बाद 8 अगस्त को सरकार इंडस्ट्री प्रतिनिधियों से भी मुलाकात करेंगी. आपको बता दें कि कारों की बिक्री में भारी गिरावट के बीच देशभर में कार डीलर्स बड़ी संख्या में कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रहे हैं. फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने दावा किया है कि पिछले तीन महीने के दौरान खुदरा विक्रेताओं ने बिक्री में भारी गिरावट की वजह से करीब दो लाख कर्मचारियों की छंटनी की है. फाडा ने कहा कि निकट भविष्य में स्थिति में सुधार की संभावना नहीं दिख रही है जिसकी वजह से और शोरूम बंद हो सकते हैं. छंटनी का सिलसिला जारी रह सकता है.

इस हफ्ते होंगी 4 बड़ी बैठक

>> वित्त मंत्री 7 अगस्त को ऑटो सेक्टर प्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगे.
>> 8 अगस्त को सरकार और इंडस्ट्री प्रतिनिधियों के साथ बैठक होगी.

>> 9 अगस्त को फाइनेंशियल सेक्टर्स के अधिकारियों वित्त मंत्री से मिलेंगे.
>> 11 अगस्त को रियल्टी सेक्टर के प्रतिनिधियों के साथ बैठक होगी.


Loading...

>> वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों से भी मुलाकात करेंगी.  इसमें अर्थव्यवस्था के विभिन्न महत्वपूर्ण क्षेत्रों में क्रेडिट ग्रोथ से संबंधित मामलों की समीक्षा की जाएगी.

>> नेशनल हाउसिंग बैंक (एनएचबी) हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों को 10 हजार करोड़ रुपये को मुहैया कराना है. यह अफोर्डेबल हाउसिंग के लिए व्यक्तिगत तौर पर लिए जाने वाले लोन के लिए एडिशनल लिक्विडीटी है.

>> पिछले दिनों रियल एस्टेट सेक्टर में एक बड़ा निर्णय लेते हुए नेशनल हाउसिंग बैंक (NHB) ने हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों के इंट्रेस्ट सबवेंशन स्कीम पर रोक लगा दी थी.

>> नेशनल हाउसिंग बैंक ने ऐसी योजनाओं में फ्रॉड को रोकने के लिए यह कदम उठाया है, हालांकि इससे लाखों खरीदारों के लिए संकट खड़ा हो सकता है.

>> इसके अलावा इस फैसले से रियल एस्टेट सेक्टर के लिए भी काफी मुश्किल बढ़ेगी जो पहले से ही फंड की तंगी से परेशान है.

>> अपने नए सर्कुलर में नेशनल हाउसिंग बैंक ने होम फाइनेंस कंपनियों से कहा है कि ऐसे लोन उत्पाद देना बंद करें जिसमें ग्राहक की जगह लोन का ब्याज डेवलपर देता है यानी इंस्ट्रेट का सबवेंशन किया जाता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 5, 2019, 3:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...