लाइव टीवी

भारत-अमेरिका में ट्रेड डील पर बातचीत फुल स्पीड से चल रही है- वित्त मंत्री

News18Hindi
Updated: October 20, 2019, 11:25 AM IST
भारत-अमेरिका में ट्रेड डील पर बातचीत फुल स्पीड से चल रही है- वित्त मंत्री
भारत-अमेरिकी व्यापार पर चल रही वार्ता

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) हेडक्वार्टर में सीतारमण और अमेरिकी ट्रेजरी सचिव स्टीवन नुचिन के बीच व्यापार सौदे को लेकर बातचीत चल रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2019, 11:25 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने रविवार को कहा कि भारत (India) और अमेरिका (United States) के बीच ट्रेड डील पर बातचीत 'फुल स्पीड' के साथ आगे बढ़ रही है और उन्होंने उम्मीद जताई की इसका जल्द ही नतीजा सामाने आ जाएगा. अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) हेडक्वार्टर में सीतारमण और अमेरिकी ट्रेजरी सचिव स्टीवन नुचिन के बीच व्यापार सौदे को लेकर बातचीत चल रही है. नुचिन अगले महीने भारत यात्रा पर आने वाले हैं.

वित्त मंत्री ने कहा, मैंने सेक्रेटरी नुचिन के साथ मोटे तौर पर व्यापार का उल्लेख किया है. मगर इसपर वह वाणिज्य मंत्री और रॉबर्ट लाइटहाइजर (अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि) मिलकर काम कर रहे हैं. मेरे इनपुट्स के अनुसार बातचीत पूरी गति से चल रही है और इस बात की पूरी संभावना है कि दोनों पक्षों के बीच जल्द ही डील पर सहमति बन जाएगी. एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ टोटलाइजेशन एग्रीमेंट कार्ड में था.

आयुष्मान भारत बेहतर एक शानदार बीमा कवरेज
उन्होंने कहा, उन कारणों में से एक जिसका कभी जवाब नहीं दिया गया था कि भारत में भारतीयों के लिए सोशल वेलफेयर नेट या एक सोशल इंश्योरेंस कवर नहीं था. और इसलिए, अगर उन्हें देना होता, तो उन्हें इस अर्थ में नहीं दिया जाता कि इसका उपयोग कहां किया जाएगा. सीतारमण ने कहा, आज मुझे लगता है कि अधिकांश प्राइवेट इंश्योरेंस और कई परिवारों जिनकी आय निश्चित स्तर से नीचे है, आयुष्मान भारत उनके लिए एक शानदार कवरेज है. बीमा कवरेज के लिए अब बहुत अधिक निजी क्षेत्र का विकल्प भी मौजूद है.

ये भी पढ़ें: LIC पॉलिसी का प्रीमियम भरना भूल गए तो न लें टेंशन, यहां जानें इससे जुड़े सभी जरूरी नियम

उन्होंने कहा कि पहले भी जब मैं वाणिज्य मंत्री थीं, तब भारत ने कई तर्क दिए थे, लेकिन हेल्थ कवर के मुद्दे पर बार-बार उन पर कोई ठोस जवाब नहीं दिया गया. सीतारमण ने कहा, मुझे वह याद है. मैंने कम से कम दो बार समग्र वार्ता में इसे सुना है.

सीतारमण ने कहा, अमेरिका में काम करने वाले अधिकांश भारतीयों का उनके सोशल सिक्युरिटी डिडक्शन पर कोई दावा नहीं है, क्योंकि इसके लिए वहां कम से कम 10 साल काम करना होता है. इसे इस तरह डिजाइन किया गया है कि आप वास्तव में लाभ नहीं उठा सकते हैं. और किसी भी मामले में कोई भी इस देश में इतने समय के लिए नहीं रहता है.
Loading...

एक आधिकारिक जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि सीतारमण ने नुचिन के साथ उपयोगी बातचीत की. दोनों पक्ष नवंबर के पहले हफ्ते में दिल्ली में नुचिन की यात्रा के दौरान बातचीत जारी रखने पर सहमति व्यक्त की.

ये भी पढ़ें-  आपने भी PPF में किया है निवेश तो जान लें बात, होगा बड़ा फायदा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 11:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...