वित्त मंत्री के आर्थिक सुधार पर उठाए कदमों की अमेरिका में हुई तारीफ! अब भारत में तेजी से निवेश बढ़ने की उम्मीद

भाषा
Updated: August 24, 2019, 6:20 PM IST
वित्त मंत्री के आर्थिक सुधार पर उठाए कदमों की अमेरिका में हुई तारीफ! अब भारत में तेजी से निवेश बढ़ने की उम्मीद
वित्त मंत्री के आर्थिक सुधार पर उठाए कदमों की अमेरिका में हुई तारीफ! भारत में तेजी से निवेश बढ़ने की उम्मीद

अमेरिकी उद्योग जगत ने भारत की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से आर्थिक सुधार को लेकर उठाए कदमों का स्वागत करते हुए कहा है कि इन प्रस्तावित विस्तृत सुधारों से भारतीय अर्थव्यवस्था को मदद मिलेगी

  • Share this:
अमेरिकी उद्योग जगत ने भारत की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister) की ओर से आर्थिक सुधार (Economic Reforms) को लेकर उठाए कदमों का स्वागत करते हुए कहा है कि इन प्रस्तावित विस्तृत सुधारों से भारतीय अर्थव्यवस्था को मदद मिलेगी. साथ ही, भारत (Indian Economy) दुनिया में फिर से निवेश के रूप में बेस्ट डेस्टिनेशन बन जाएगा. आपको बता दें कि भारत सरकार ने शुक्रवार को शेयर बाजार (Stock Market) में निवेश करने वाले देशी और विदेशी गैर कार्पोरेट निवेशकों अधिक ऊंची आय पर लगने वाले सरचार्ज को हटा दिया है. साथ ही, स्टार्टअप को ‘ऐंजल टैक्स’ से छूट देने, संकट से जूझ रहे ऑटो सेक्टर के लिए एक सहायता-पैकेज देने और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में जल्द 70,000 करोड़ रुपये देने की बात कहीं है.

सरकार इस समय आर्थिक वृद्धि में गिरावट को थामने के उपायों में लगी है. वृद्धि दर घट कर पांच साल के निचले स्तर पर आ गयी है.

आर्थिक सुधार पर उठाए कदमों हुई तारीफ-अमेरिका-भारत व्यावसायिक परिषद (USIBC)की अध्यक्ष निशा देसाई बिस्वाल ने कहा,  हम इन प्रस्तावित विस्तृत सुधारों के वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और भारत सरकार की सराहना करते हैं. इससे भारतीय अर्थव्यवस्था को जरूरी प्रोत्साहन मिलेगा और अर्थव्यवस्था में विस्तार सुनिश्चत किया जा सकेगा.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार ने आम आदमी को दिए ये 6 तोहफे! यहां जानें

इन कदमों से भारत बना रहेगा दुनिया की सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था-  पूर्ववर्ती ओबामा प्रशासन में दक्षिण और मध्य एशिया के लिए सहायक विदेशमंत्री की भूमिका निभा चुकी बिस्वाल ने भरोसा जताया कि इन सुधारों से भारत में और अधिक विदेशी निवेश आकर्षित करने, व्यापार में वृद्धि को बनाए रखने और भारत को दुनिया की सबसे तेजी से उभरती बड़ी अर्थव्यवस्था बनाए रखने में मदद मिलेगी.

बिस्वाल ने कहा, ‘पैकेज के रूप में ये प्रस्ताव वैश्विक निवेश स्थल के रूप में भारत की स्थिति की मजबूत करेंगे. उन्होंने कहा है कि सरकार ने इनोवेशऩ को मदद करने और भारत को उद्यमिता और स्टार्टअप की राजधानी बनाने के लिए एंजल कर को खत्म कर मजबूत पहल की है.

उन्होंने कहा, कि यूएसआईबीसी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का पुन:पूंजीकरण करने के फैसले का स्वागत करता है इससे कारोबार, खुदरा व्यवसाय और बाजार के अन्य हिस्सों को फायदा होगा.
Loading...

GST रिफंड पर उठाए कदम सराहनीय- बिस्वाल ने कहा, हम जीएसटी को भी आसान करने की पहल देख रहे हैं, खासतौर पर 60 दिनों के भीतर जीएसटी के रिफंड की प्रतिबद्धता एक महत्वपूर्ण कदम है. इससे भारतीय और अमेरिकी कंपनियों को भारतीय कर प्रणाली का पूर्वानुमान लगाने में मदद मिलेगी.

अमेरिका-भारत रणनीतिक और साझेदारी मंच (यूएसआईएसपीआईएफ) ने भी गैर कॉरपोरेट एफपीआई की एक सीमा से अधिक की आय पर करअधिभार में वृद्धि हटाने के फैसले का स्वागत किया.

यूएसआईएसपीआईएफ ने बयान जारी कर कहा, ‘‘ इस फैसले का विदेशी निवेशकों के निवेश भावना पर दूरगामी असर होगा और इससे भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए जरूरी प्रोत्साहन मिलेगा.’’

बयान में कहा गया कि वित्तमंत्री की ओर से जीएसटी रिफंड के दावों को तेजी से निपटने, अधिकारियों के सीधे संपर्क के बिना कर-विवरण का आकलन,उद्योग संवर्धन एवं आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) में पंजीकृत स्टार्टअप से एंजल कर हटाना और जीएसटी का सरलीकरण जैसे कई उपायों की घोषणा की है.

ये भी पढ़ें-अपना बिजनेस करने वालों के लिए खुशखबरी! खत्म हुआ ये टैक्स

मंच ने कहा है कि ये सुधार भारत में कारोबार सुगमता बढ़ाने और निवेश आकर्षित करने के लिए अहम है.यूएसआईएसपीआईएफ आर्थिक विकास और लक्ष्य हासिल करने के लिए भारत सरकार के साथ मिलकर काम करने को प्रतिबद्ध है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 6:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...