लाइव टीवी

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए नए बूस्ट डोज की तैयारी, वित्त मंत्री ने दिए संकेत

News18Hindi
Updated: December 3, 2019, 12:27 PM IST
अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए नए बूस्ट डोज की तैयारी, वित्त मंत्री ने दिए संकेत
वित्त मंत्री ने इंडिया स्वीडन बिजनेस समिट (India Sweden Business Summit 2019) को संबोधित किया.

इंडिया स्वीडन बिजनेस समिट (India Sweden Business Summit 2019) को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने कहा कि भारत को अधिक आकर्षक निवेश स्थल बनाने के लिए सरकार और सुधारों के लिए तैयार है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2019, 12:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने ग्रोथ की रफ्तार को फिर से तेज करने के लिए नए आर्थिक सुधार (Economic Reforms) शुरू करने की बात कही है. इंडिया स्वीडन बिजनेस समिट (India Sweden Business Summit 2019) को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री (Finance Minister) ने आगे कहा कि भारत को अधिक आकर्षक निवेश स्थल बनाने के लिए सरकार और सुधारों के लिए तैयार है. सरकार, ने हाल में कॉरपोरेट टैक्स घटाने सहित कई बड़े कदम उठाए हैं.

इंडिया स्वीडन बिजनेस समिट (India Sweden Business Summit 2019) में वित्त मंत्री ने कहा, 'मैं केवल यह आश्वासन दे सकती हूं कि भारत सरकार विभिन्न क्षेत्रों में आगे सुधार के लिए प्रतिबद्ध है, चाहे वह बैंकिंग, खनन या बीमा के अलावा कोई और अन्य सेक्टर हो.'

इनकम टैक्स में कटौती के लिए सुझावों पर होगा विचार- इससे पहले सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में बताया कि उन्होंने इनकम टैक्स को कम करने के लिए सांसदों से बात की है और उनके सुझाव ले रही हैं.

उन्होंने कहा कि इसमें कटौती का निर्णय इसके फायदों को ध्यान में रखते हुए ही लिया जाएगा, ना सिर्फ इसलिए कि पहले सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती की है.ये भी पढ़ें-पेट्रोल पंप पर बिल्कुल मुफ्त में मिलती है ये 9 सर्विस, नहीं देने पर पेट्रोलपंप मालिक पर लगेगा भारी जुर्माना 

आपको बता दें कि पर्सनल इनकम टैक्स की दरों के बारे में वित्त मंत्री का बयान उस प्रश्न के जवाब में आया, जो टीएमसी के नेता सौगत रॉय द्वारा लोकसभा में कार्यवाही के दौरान पूछा गया था.

वित्त मंत्री ने कहा कि वे उन सभी का सम्मान करती हैं, जो अपनी आजीविका के लिए कमा रहे हैं, टैक्स भर रहे हैं और अपने बिजनेस के साथ ही परिवार का भी ध्यान रख रहे हैं. इसलिए पर्सनल इनकम टैक्स उसके फायदों को ध्यान में रखते हुए ही लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें-कांग्रेस पर वित्त मंत्री का निशाना, कहा- हमारे यहां कोई दामाद या जीजा नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 12:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर