भारत ने चीन को दिया बड़ा झटका! वित्त मंत्रालय की China के इस निवेश पर पाबंदी लगाने की तैयारी

भारत ने चीन को दिया बड़ा झटका! वित्त मंत्रालय की China के इस निवेश पर पाबंदी लगाने की तैयारी
भारत ने चीन को दिया बड़ा झटका! China के इस निवेश पर लगेगी पाबंदी

भारत और चीन के बीच (India-China Tension) बढ़ते तनाव के बीच वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को चीन समेत भारत की सीमा से लगे किसी भी देश से पेंशन कोष में विदेशी निवेश पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. चीन को आर्थिक मोर्चे पर पीछे धकेलने के लिए भारत हर प्रयास कर रहा है. भारत और चीन के बीच (India-China Tension) बढ़ते तनाव के बीच वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को चीन समेत भारत की सीमा से लगे किसी भी देश से पेंशन कोष में विदेशी निवेश पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव किया है. पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (Pension Fund Regulatory and Development Authority) PFRDA के नियमन के तहत पेंशन कोष में स्वत: मार्ग से 49 प्रतिशत विदेशी निवेश की अनुमति है.

इस संदर्भ में जारी अधिसूचना के मसौदे के अनुसार चीन समेत भारत की सीमा से लगने वाले किसी भी देश की किसी भी निवेश इकाई या व्यक्ति के निवेश के लिये सरकार की मंजूरी की जरूरत होगी. समय-समय पर जारी एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) नीति का संबंधित प्रावधान ऐसे मामलों पर लागू होगा.

ये भी पढ़ें:- गरीबों के लिए खुशखबरी! राशन कार्ड को लेकर बड़ा ऐलान, जल्द इन 14 राज्यों में लागू होगी की ये महत्वकांक्षी योजना




विदेशी निवेश सरकार की मंजूरी पर निर्भर करेगा
इस पर संबंधित पक्षों से टिप्पणियां मांगी गयी है. इन देशों से कोई भी विदेशी निवेश सरकार की मंजूरी पर निर्भर करेगा. भारत सरकार की अधिसूचना जारी होने की तारीख से यह प्रतिबंध लागू होगा. भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हिंसक झड़प के बाद बढ़ते तनाव के बीच वित्त मंत्रालय ने यह प्रस्ताव किया है. प्रस्तावित बदलाव औद्योगिक संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) के अप्रैल में जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप है. फिलहाल, केवल बांग्लादेश और पाकिस्तान से होने वाले निवेश को लेकर ही सरकारी मंजूरी की जरूरत का प्रावधान है.

ये भी पढ़ें:- बाबा रामदेव की पतंजलि रुचि सोया के लिए बनी गेमचेंजर, निवेशकों की हुई चांदी एक साल में 70 गुना बढ़ा शेयर

प्रस्तावित बदलाव औद्योगिक संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (DPIIT) के अप्रैल में जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप है. फिलहाल, केवल बांग्लादेश और पाकिस्तान से होने वाले निवेश को लेकर ही सरकारी मंजूरी की जरूरत का प्रावधान है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading