2 से 5 करोड़ रुपये की आय पर सरचार्ज की समीक्षा करेगी सरकार- सूत्र

सरकार ने साफ किया है कि फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPIs) पर सरचार्ज मामले की समीक्षा की जाएगी.

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 3:21 PM IST
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 3:21 PM IST
सरकार ने साफ किया है कि फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPIs) पर सरचार्ज मामले की समीक्षा की जाएगी. CNBC-आवाज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक सरकार को इस तरह से Interpretation का अनुमान नहीं था. सरकार 2 से 5 करोड़ रुपये की आय पर सरचार्ज की समीक्षा की जाएगी. सूत्रों के मुताबिक ये मामला वित्त मंत्रालय तक पहुंच चुका है. रेवेन्यू डिपार्टमें और सीबीडीटी डिपार्टमेंट के संबंधित अधिकारियों तक मामला पहुंच चुका है. अब इस मामले को देखा जा है कि इसका क्या किया जा सकता है. इस मामले की समीक्षा की जा रही है और इसका रास्ता क्या निकल सकता है. अभी इस बात के संकेत मिल रहे हैं अगले कुछ घंटे या 24 से 48 घंटों में वित्त मंत्रालय की तरफ से किसी भी तरह की सफाई या सेबी की तरफ सफाई आ सकती है.

जानें क्या है मामला
दरअसल, सरकार ने बजट में ये घोषणा की है कि 2 करोड़ और 5 करोड़ सालाना आमदनी करने वाले पर सरचार्ज लगाएंगे. शेयर बाजार में पैसा लगाने वाले विदेश निवेशक यानी एफपीआई में से 70 फीसदी अपने आप को एसोसिएशन ऑफ पर्सन (AOP) के तौर रजिस्टर करते हैं. क्योंकि इंडिविज्युअल पर जो सरचार्ज लगता है वो इनकम टैक्स कानून के मुताबिक लगता है और इनकम टैक्स की परिभाषा में एओपी भी आ जाते हैं. ऐसे में एफपीआई पर भी वो सरचार्ज लग जाएगा. इसकी वजह से एफपीआई पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स (LTCG) और शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स (STCG) काफी महंगा हो जाएगा. यही चिंता बाजार और एफपीआई की थी. ये भी पढ़ें: मानसून ऑफर! दिल्ली में सस्ती जमीन और दुकान खरीदने का मौका


Loading...

वित्त मंत्रालय तक ये मामला पहुंच चुका है. वित्त मंत्रालय इसकी समीक्षा कर रहा है और जरूरत पड़ने पर हो सकता है वित्त मंत्रालय इस पर सफाई जारी करे.

ये भी पढ़ें: गैस सिलेंडर फटा तो मिलेगा 50 लाख का मुआवजा, ऐसे करें क्लेम

(लक्ष्मण रॉय, इकोनॉमिक पॉलिसी एडिटर- CNBC आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 2:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...