• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • भारत में खुला पहला Bitcoin एटीएम, जानें पूरी डीटेल

भारत में खुला पहला Bitcoin एटीएम, जानें पूरी डीटेल

देश में खुल गया है पहला Bitcoin एटीएम, आइए जानें इसके बारे में सबकुछ

देश में खुल गया है पहला Bitcoin एटीएम, आइए जानें इसके बारे में सबकुछ

निकॉन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने बेंगलुरू में देश का पहला बिटकॉइन एटीएम खोला है. आइए जानें इसके बारे में सबकुछ...

  • Share this:
    शरत शर्मा कलागारु


    एक तरफ दुनियाभर में क्रिप्टो करेंसी की वैधता को लेकर अनिश्चितता है. वहीं, दूसरी तरफ भारत में बैंकों के क्रिप्टो करेंसी के बिजनेस पर आरबीआई ने पूरी तरह से रोक लगा रखी है. लेकिन इन सभी के बीच  यूनिकॉन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने बेंगलुरू में देश का पहला बिटकॉइन एटीएम खोला है.

    कहां लगा है ATM- यह बैंगलुरू के पुराने हवाई अड्डे पर लगाया गया है. यह एटीएम मशीन ट्रेडिंग और एक्सचेंज प्लेटफॉर्म की तरह से काम करेगा. सबसे पहले यह कस्टमर को वैरिफाइ करेगा. एटीएम के जल्द शुरू होने की उम्मीद है. (ये भी पढ़ें-RBI ने इन नियमों को किया आसान, बैंकों को लोन देना हुआ आसान)



    कैसे काम करेगा- इसके लिए पहले ग्राहक को बैंगलुरू के पुराने हवाई अड्डे के नज़दीक, केम फॉर्ट मॉल में स्थित यूनिकॉन के ऑफिस में रजिस्टर्ड करना होगा. यूनिकॉन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, ग्राहक इस एटीएम के जरिए उसकी वैल्यू के मुताबिक 10 बिटकॉइन तक खरीद और बेच सकते है. सभी ट्रांजैक्शन (लेन-देन)  रुपये में होंगी. (ये भी पढ़ें-इन तारीखों पर बंद रहेंगे बैंक, संभलकर खर्च करें कैश)



    ग्राहक को क्या करना होगा- ग्राहक को सबसे पहले अपने मोबाइल नंबर से रजिस्ट्रेशन करना होगा. मोबाइल पर आए पासवर्ड को डालना होगा. इसके बाद पैन नंबर, फोन नंबर, एड्रेस, बैंक डिटेल के साथ अपना वैरिफिकेशन कराना होगा.  पैसा निकाने और जमा करने के लिए 12 नंबर वाला ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) डालना होगा. (ये भी पढ़ें-LIC की ये पॉलिसी खत्म कर देगी फ्यूचर की टेंशन, हर साल मिलेंगे 65 हजार रुपए भी)

    वैधता पर सवाल बरकरार- यूनिकॉन ने कस्टमर रिप्रेंजटेटिव ने न्यूज18 को बताया कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि बिटकॉइन यूजर्स अपने रिस्क पर क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाएं. उन्होंने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी न तो कानूनी तौर से वैध है और न ही गैरकानूनी है.



    यूनिकॉन के फाउंडर सथविक विश्वनाथ का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी पर वित्त मंत्रालय द्वारा जारी नोटिस "क्रिप्टोक्रांस की वैधता" के बारे में बात नहीं करता है और इसलिए भारत में बिटकॉइन या अन्य क्रिप्टो करेंसी की वैधता पर यथास्थिति बनी हुई है. वहीं, आरबीआई का यह फैसला क्रिप्टोस से जुड़े जोखिम पर था. हालांकि, बैंक के एक अधिकारी का कहना है कि बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी पर भ्रम अभी भी मौजूद है और इसका बिजनेस करने वाले लोग जोखिम में रहेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन