बड़ा झटका- 30 साल के सबसे निचले स्तर पर आ सकती है भारत की GDP ग्रोथ-फिच रिपोर्ट

बड़ा झटका- 30 साल के सबसे निचले स्तर पर आ सकती है भारत की GDP ग्रोथ-फिच रिपोर्ट
देश की अर्थव्यवस्था पर ADF ने जताया अनुमान

कोविड-19 महामारी (COVID-19) के चलते किए गए लॉकडाउन के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था मंदी (Global Economic Recession) की चपेट में आ गई है, जिसके असर से भारत भी अछूता नहीं है.

  • Share this:
नई दिल्ली. फिच रेटिंग्स (Fitch Ratings) ने शुक्रवार को कहा कि उसने भारत के वृद्धि अनुमानों को घटाकर दो प्रतिशत कर दिया है. यह 30 साल का न्यूनतम स्तर होगा. पहले उसने अनुमान घटाकर 5.1 प्रतिशत किया था. कोविड-19 महामारी (COVOD-19 Pandemic) के चलते किए गए लॉकडाउन के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था मंदी की चपेट में आ गई है, जिसके असर से भारत भी अछूता नहीं है.

फिच रेटिंग्स ने एक बयान में कहा, ‘फिच को इस साल वैश्विक मंदी की आशंका है और मार्च 2021 में खत्म हो रहे वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर के अनुमानों को घटाकर दो प्रतिशत कर दिया गया है.’

इससे पहले फिच ने भारत के वृद्धि अनुमानों को घटाकर 5.1 प्रतिशत कर दिया था, जिसे अब और घटा दिया गया है. राष्ट्रीय लोक वित्त संस्थान संस्थान के प्राध्यापक एन आर भानुमूर्ति ने कहा कि मौजूदा बंद से भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति और खराब होगी. उन्होंने कहा कि आर्थिक सुधारों के बाद से भारतीय अर्थव्यवस्था सबसे कम वृद्धि हासिल कर सकती है.



यह भी पढ़ें: मोदी सरकार आज जनधन खातों में डालेगी 500 रुपए, जानिए- किसे पहले मिलेगा फायदा
लगातार धीमी हो रही विकास दर
राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) का अनुमान है कि भारत की आर्थिक वृद्धि दर 2019-20 में पांच प्रतिशत रहेगी. बाजार में पिछले साल आई सुस्ती के बाद से ही भारत की विकास दर धीमी होती रही है. वित्त वर्ष 2019 में यह 6.1 प्रतिशत से गिरकर पांच प्रतिशत रह गई थी.

ABD के अध्यक्ष मसात्सुगु असाकावा ने कहा, ‘कई बार काफी चुनौतीपूर्ण समय का सामना करना पड़ता है. कोविड-19 से विश्वभर में लोगों की जिंदगियां प्रभावित हुई हैं और उद्योग एवं अन्य आर्थिक गतिविधियां बाधित हो रही हैं.’

यह भी पढ़ें: आपके स्मार्टफोन लोकेशन की मदद से होगी COVID-19 की रोकथाम, गूगल ने बनाया प्लान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading