Fitch ने GDP ग्रोथ के अनुमान में किया बदलाव, FY22 में तेजी से होगा विकास

Fitch ने GDP ग्रोथ के अनुमान में किया बदलाव

Fitch ने GDP ग्रोथ के अनुमान में किया बदलाव

फिच रेटिंग्स ने अगले वित्त वर्ष 2021-22 के लिए भारत की वृद्धि दर का अनुमान बढ़ाकर 12.8 फीसदी कर दिया है. पहले रेटिंग एजेंसी ने अगले वित्त वर्ष में वृद्धि दर 11 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था.

  • Share this:
नई दिल्लीः फिच रेटिंग्स ने अगले वित्त वर्ष 2021-22 के लिए भारत की वृद्धि दर का अनुमान बढ़ाकर 12.8 फीसदी कर दिया है. पहले रेटिंग एजेंसी ने अगले वित्त वर्ष में वृद्धि दर 11 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था. फिच ने अपने ताजा वैश्विक आर्थिक परिदृश्य (जीईओ) में कहा है कि भारत लॉकडाउन की वजह से आई मंदी की स्थिति से उम्मीद से अधिक तेजी से उबरा है. फिच ने कहा, ''मजबूत पूर्व प्रभाव, राजकोषीय रुख तथा संक्रमण पर बेहतर तरीके से रोक की वजह से उसने भारत की आर्थिक वृद्धि के अनुमान में संशोधन किया है.''

रेटिंग एजेंसी ने कहा कि 2020 की दूसरी छमाही में पुनरुद्धार से सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) अपने महामारी पूर्व के स्तर पर पहुंच गया है. ऐसे में हमने 2021-22 के वृद्धि दर के अनुमान को 11 प्रतिशत से संशोधित कर 12.8 प्रतिशत कर दिया है.

यह भी पढ़ें: Laxmi Organic IPO की हुई दमदार लिस्टिंग, 20% प्रीमियम के साथ 156 रुपए पर हुआ लिस्ट

इसके साथ ही फिच ने कहा, ''हमारा अनुमान है कि भारत का सकल घरेलू उत्पाद हमारे महामारी पूर्व के अनुमान से नीचे रहेगा.'' दिसंबर में जीडीपी की वृद्धि दर महामारी पूर्व के स्तर को पार कर गई. तिमाही के दौरान सालाना आधार पर जीडीपी में 0.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई. इससे पिछली तिमाही में जीडीपी में 7.3 प्रतिशत की गिरावट आई थी.
तेजी से उबरी है अर्थव्यवस्था

रेटिंग एजेंसी ने कहा कि 2020 के कैलेंडर साल की दूसरी तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था लॉकडाउन की वजह से मंदी में चली गई थी, लेकिन उसके बाद यह हमारे अनुमान से अधिक तेजी से उबरी है. फिच ने कहा कि 2020 के अंतिम महीनों में संक्रमण के मामलों में कमी और राज्यों और संघ शासित प्रदेशों में अंकुशों में ढील के बाद अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार हुआ है.

यह भी पढ़ें: IRCTC का खास ऑफर, 12 दिन में करें 4 धाम की यात्रा, जानें कितने रुपये होंगे खर्च?



चीन और अमेरिका की ग्रोथ

भारत के साथ ही फिच ने अमेरिका की जीडीपी ग्रोथ रेट FY22 में 6.2 फीसदी रहने का अनुमान जताया है. एजेंसी ने इससे पहले अमेरिका का इतोनॉमिक ग्रोथ रेट 4.5 फीसदी रहने का अनुमान जताया था. वहीं, चीन (China) की इकोनॉमिक ग्रोथ 8.4 फीसदी और यूरोपियन यूनियन की GDP 4.7 फीसदी बढ़ने का अंदाजा लगाया था. एजेंसी ने चीन के लिए पहले 8% इकोनॉमिक ग्रोथ का अनुमान जताया था. वहीं, यूरोपियन यूनियन के इकोनॉमिक ग्रोथ के अनुमान में संशोधन नहीं किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज