कोरोना का असर: Fitch Ratings ने SBI, ICICI बैंक समेत 9 बैंकों का रेटिंग निगेटिव किया

कोरोना का असर: Fitch Ratings ने SBI, ICICI बैंक समेत 9 बैंकों का रेटिंग निगेटिव किया
क्रेडिट रेटिंग एजेंसी फिच रेटिंग्स

क्रेडिट रेटिंग एजेंसी फिच रेटिंग्स (Fitch Ratings) ने सोमवार को भारत के 9 बैंकों का आउटलुक निगेटिव कर दिया है. इन में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और ICICI बैंक समेत कई प्रमुख बैंक हैं. फिच ने कहा कि इससे बैंकों के व्यवहार्यता रेटिंग पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. फिच रेटिंग्स (Fitch Ratings) ने सोमवार को कहा कि उसने भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) और ICICI Bank सहित नौ भारतीय बैंकों के परिदृश्य (Outlook) को संशोधित कर स्थिर से नकारात्मक कर दिया. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के अर्थव्यवस्था पर पड़े प्रभाव को देखते हुये भारत की सॉवरेन रेटिंग में किये गये बदलाव को देखते हुये यह कदम उठाया गया है.

इन बैंकों का परिदृश्य नाकारातत्मक किया
रेटिंग एजेंसी ने भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा (न्यूजीलैंड), बैंक ऑफ इंडिया, केनरा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और भारतीय निर्यात- आयात बैंक के परिदृश्य को संशोधित कर नकारात्मक किया है. हालांकि, एजेंसी ने उनकी मौजूदा रेटिंग को बरकरार रखा है. इसके साथ ही फिच ने आईडीबीआई बैंक लिमिटेड (IDBI Bank Ltd.) की रेटिंग को भी यथावत रखा है लेकिन परिदृश्य को नकारात्मक रखा है.

यह भी पढ़ें: ₹11 लाख करोड़ की मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी बनी रिलायंस इंडस्ट्रीज
कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए लिया फैसला


रेटिंग एजेंसी ने एक वक्तव्य में कहा है, ‘‘उसका यह कदम 18 जून 2020 को भारत की BBB-’ रेटिंग पर परिदृश्य को स्थिर से घटाकर नकारात्मक करने के बाद उठाया गया है. यह कार्रवाई भारत की अर्थव्यवस्था पर कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रभाव को देखते हुये की गई.’’

सरकार पर बढ़ रह दबाव
एजेंसी का कहना है कि भारत की सॉवरेन रेटिंग (India's Sovereign Rating) पर परिदृश्य का नकारात्मक होना सरकार की तरफ से अत्यधिक समर्थन देने की क्षमता पर बढ़ते दबाव को परिलक्षित करता है. कोविड-19 महामारी की वजह से वित्तीय क्षेत्र का बिगड़ता गणित और उसके समक्ष सीमित वित्तीय गुंजाइश को देखते हुये यह स्थिति बनी है.

यह भी पढ़ें: ICICI ने शुरू की नई सेवा! दे रहा 1 करोड़ रुपये तक का Instant Education Loan

बैंकों के व्यवहार्यता पर नहीं पड़ेगा प्रभाव
एजेंसी ने कहा है कि रेटिंग की इस कार्रवाई से बैंकों की व्यवहार्यता रेटिंग (VR) पर प्रभाव नहीं होगा. Axis bank की VR नहीं है क्योंकि उसकी भूमिका एक नीतिगत बैंक की है. बैंक का रणनीतिक और प्रणालीगत महत्व काफी ऊंचा है जबकि स्टेट बैंक 25 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ सबसे बड़ा भारतीय बैंक है. ‘‘एसबीआई को संभवत: यदि जरूरत पड़ी तो असाधारण रूप से सरकार का समर्थन भी प्राप्त हो सकता है क्योंकि पूरी प्रणाली में उसका काफी बड़ा महत्व है.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज