Home /News /business /

five benefits including free insurance on pf account all types of loans will be available easily know all the facilities on pf account kcnd

PF Account Benefits : पीएफ खाते पर 7 लाख के Free Insurance सहित मिलती हैं कई सुविधाएं, जानें डिटेल्स

प्रत्येक पीएफ खाताधारक के लिए नॉमिनी बनाना हो गया है अनिवार्य.

प्रत्येक पीएफ खाताधारक के लिए नॉमिनी बनाना हो गया है अनिवार्य.

EPFO PF Account Benefits: पीएफ खाता खुलते ही अंशधारकों को इंप्लाइज डिपॉजिट लिंक्ड इंश्योरेंस (EDLI) योजना के तहत 7 लाख रुपये तक मुफ्त बीमा मिलता है. इस योजना का मकसद पीएफ खाताधारक की मृत्यु के बाद परिवार के सदस्य को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना है. पहले बीमा की यह रकम 6 लाख रुपये थी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने 2021-22 के लिए ईपीएफ जमा पर ब्याज दर में 0.4 फीसदी कटौती कर उसे 8.1 फीसदी कर दिया है. इस कटौती के बाद भी पीएफ खाते में निवेश पर मिलने वाला ब्याज अन्य बचत योजनाओं के मुकाबले ज्यादा है. खास बात यह है कि पीएफ खाते में योगदान पर खाताधारकों को कई सुविधाएं मिलती हैं.

निवेश सलाहकार बलवंत जैन का कहना है कि सरकार ने पीएफ जमा पर ब्याज दर घटाकर अंशधारकों (खाताधारक) को भले ही होली से पहले झटका दिया है, लेकिन यह अब भी कई मायने में फायदेमंद है. खास बात है कि पीएफ खाता खुलते ही अंशधारकों को इंप्लाइज डिपॉजिट लिंक्ड इंश्योरेंस (EDLI) योजना के तहत 7 लाख रुपये तक मुफ्त बीमा मिलता है. इस योजना का मकसद पीएफ खाताधारक की मृत्यु के बाद परिवार के सदस्य को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना है. पहले बीमा की यह रकम 6 लाख रुपये थी.

ये भी पढ़ें- आखिर क्यों है PPF, सुकन्या समृद्धि योजना और NPS में हर साल पैसा जमा करने की जरूरत

बंद खातों पर भी ब्याज

पीएफ खाताधारकों को बंद पड़े खातों पर भी ब्याज मिलता है. अगर आपका पीएफ खाता तीन साल से अधिक समय से निष्क्रिय है तो भी आपको ब्‍याज मिलता रहेगा. यह बदलाव 2016 में ईपीएफओ की ओर से किया गया है. इससे पहले तीन साल तक पीएफ खाता निष्क्रिय रहने पर ब्याज नहीं मिलता है.

ये भी पढ़ें- LIC Jeevan Saral Pension Plan: इस योजना में निवेश कर पाएं 12000 हजार रुपए तक की पेंशन, जानिए डिटेल

रिटायरमेंट के बाद पेंशन

एक पीएफ खाताधारक 58 साल की उम्र के बाद पेंशन पाने का हकदार हो जाता है. इसके लिए पीएफ खाते में कम-से-कम 15 साल तक हर महीने योगदान करना जरूरी है. ईपीएफओ नियमों के तहत कर्मचारी के बेसिक वेतन के साथ डीए का 12 फीसदी का हिस्सा पीएफ खाते में जाता है. कंपनी भी इतना ही योगदान करती है. इसका 3.67 फीसदी हिस्सा कर्मचारी के पीएफ खाते में जाता है, जबकि 8.33 फीसदी पेंशन योजना में.

ये भी पढ़ें- Mutual Funds Investment : इन 5 मिडकैप स्कीमों ने 10 साल में 6 गुना तक का शानदार रिटर्न दिया, जानिए डिटेल

आसानी से मिलेगा लोन

आपात स्थिति में खाताधारक अपने पीएफ खाते में जमा राशि पर लोन ले सकता है. इस पर उसे पीएफ जमा पर मिलने वाले ब्याज से एक फीसदी ज्यादा इंट्रेस्ट देना होता है. यह लोन तीन साल के लिए होता है. इसके अलावा, होम लोन के रीपेमेंट के लिए पीएफ खाते में जमा रकम का 90 फीसदी हिस्सा निकाल सकते हैं. जमीन खरीदने के लिए भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.

बीच में कर सकते हैं निकासी

आपात स्थिति में आप अपने पीएफ खाते से पैसे निकाल सकते हैं. कर्मचारी अगर किसी कंपनी में पांच साल सेवाएं दे देता है तो पीएफ खाते से निकासी पर कोई टैक्स नहीं लगता है. अन्यथा 10 फीसदी टीडीएस और टैक्स कटता है.

ये भी पढ़ें – Shramik Card : क्‍या आपके खाते में आए पहली किस्‍त के 1,000 रुपये, ऐसे चेक करें कब तक आएगा पैसा

टैक्स बचाने में मददगार

पीएफ में निवेश पर टैक्स भी बचा सकते हैं. पुराने टैक्स स्लैब में अपने पीएफ खाते में सालाना 1.50 लाख रुपये तक योगदान पर इनकम टैक्स कानून के सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट पा सकते हैं. नए स्लैब में यह सुविधा नहीं है.

कटौती के बावजूद निवेश का बेहतर विकल्प

बैंक बाजार डॉट कॉम के सीईओ आदिल शेट्टी का कहना है कि ब्याज दर में कटौती के बावजूद पीएफ खाते में निवेश करना बेहतर विकल्प है. इस पर मिलने वाला ब्याज अब भी सुकन्या समृद्धि योजना, किसान विकास पत्र, एनएससी, फिक्स्ड डिपॉजिट आदि योजनाओं के मुकाबले ज्यादा है. संशोधित दर पीपीएफ पर मिलने वाले 7.1 फीसदी के ब्याज से अब भी एक फीसदी ज्यादा है.

Tags: Epfo, EPFO account, EPFO subscribers

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर