इन 10 बैंकों में एफडी पर सबसे ज्यादा रिटर्न मिलता है, टैक्स की भी होगी बचत

इन 10 बैंकों में एफडी पर सबसे ज्यादा रिटर्न मिलता है, टैक्स की भी होगी बचत
1.5 लाख तक की एफडी पर टैक्स छूट का भी लाभ मिलता है.

बीते एक साल के दौरान फिक्स्ड डिपॉजिट (FD Rates) पर मिलने वाले ब्याज दरों में कटौती के बाद भी इसमें निवेश बढ़ रहा है. दरअसल, कोविड-19 जैसी अनिश्चित समय में निवेशक तेजी से ऐसे विकल्प की तरफ बढ़ रहे हैं, जिनमें जोखिम कम है और अधिक सुरक्षित हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 2, 2020, 11:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में बचत के लिए सबसे पॉपुलर इन्वेस्टमेंट टूल फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposits) ही है. एफडी में देश के हर उम्र के लोग अपनी बचत को निवेश करते हैं. एफडी में निवेश करने का सबसे बड़ा कारण है कि अन्य तरह के निवेश की तुलना में यह सुरक्षित और बेहतर रिटर्न देने वाला विकल्प है. अन्य निवेश साधनों की तुलना में एफडी में निवेश (Investment in FD) कम जोखिम वाला होता है. हालांकि, कुछ निवेशक इसलिए भी एफडी में निवेश करते हैं क्योंकि उन्हें इनकम टैक्स एक्ट (Income Tax Act) के सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट का लाभ भी मिल जाता है. इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक के निवेश पर टैक्स छूट का लाभ मिलता है. टैक्स सेविंग एफडी का लॉक-इन पीरियड 5 साल का होता है. इस तरह के एफडी को समय से पहले तोड़ने की (Premature Withdrawal) की अनुमति नहीं मिलती है.

ब्याज दरें कम होने के बाद भी एफडी में निवेश को तवज्जो
कोविड-19 जैसी अनिश्चित समय में निवेशक तेजी से ऐसे विकल्प की तरफ बढ़ रहे हैं क्योंकि इनमें जोखिम कम है और एक सुरक्षित विकल्प है. हालांकि, पिछले एक साल में एफडी पर मिलने वाले ब्याज दरों में लगातार कमी आई है. आज हम आपको ऐसे 10 प्राइवेट बैंकों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां कम ब्याज दर के इस दौर में भी 6 फीसदी या इससे ज्यादा का ब्याज मिल रहा है. इस लिस्ट एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक, DCB Bank, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक, इंडसइंड बैंक, यस बैंक, RBL बैंक का नाम है.

यह भी पढ़ें: वन नेशन वन राशनकार्ड योजना में 4 और नए राज्य जुड़े, अब मिलेंगे ये सुविधाएं
>> इन 10 बैंकों की लिस्ट में सबसे टॉप एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक हैं, जहां आपको 7 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा. अगर इस बैंक में आप टैक्स बचत के लिहाज से 1.5 लाख रुपये का निवेश करते हैं तो अंत में आपको कुल 2,12,217 रुपये मिलेंगे.



>> दूसरे नंबर पर डीसीबी बैंक है, जहां 6.95 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. इस बैंके में 1.5 लाख रुपये का निवेश 5 साल बाद बढ़कर 2,11,696 रुपये हो जाएगा.

>> तीसरे नंबर आईडीएफसी बैंक, जहां 6.75 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. डीसीबी बैंक में 1.5 लाख रुपये का निवेश में 5 साल बाद 2,09,625 रुपये हो जाएगा.

>> इस लिस्ट में चौथे नंबर पर इंडसइंड बैंक है और यहां 6.75 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. आज के समय में इस बैंक में 1.5 लाख रुपये निवेश करने पर पांच साल बाद यह बढ़कर 2,09,625 रुपये हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: सऊदी अरब की शान अरामको को लगा झटका! छिन गया दुनिया की नंबर वन कंपनी का ताज

>> पांचवें नंबर पर आरबीएल बैंक है, जो 5 साल की एफडी पर 6.75 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा है. यहां पर आपका 1.5 लाख रुपये 5 साल बाद 2,09,625 रुपये हो जाएंगे.

>> यस बैंक भी उपरोक्त तीन बैंकों की तरह 6.25 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा है, जिसके आधार पर आपको 1.5 लाख रुपये बढ़कर 2,09,625 रुपये हो जाएगा.

>> Deutsche Bank और उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक 5 साल की एफडी पर 6.25 फीसदी की दर से ब्याज दे रहे हैं. 1.5 लाख रुपये के निवेश करने पर 5 साल बाद यह रकम बढ़कर 2,02,028 रुपये हो जाएगी.

>> बंधन बैंक और करूर वैश्य बैंक में 5 साल की एफडी पर 6 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. इन दोनों बैंकों में 1.5 लाख रुपये का निवेश करने पर 5 साल बाद यह बढ़कर 2,02,028 करोड़ रुपये हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: रक्षाबंधन पर दें सरकार की गारंटी वाली स्कीम का ये गोल्ड पेपर,मिलेंगे कई फायदे

इन बैंकों में टैक्स बचत के लिहाज से एफडी में निवेश करने के बाद आप टैक्स सेविंग्स (Tax Saving Options) के अन्य विकल्पों के बारे में विचार कर सकते हैं. इन्वेस्टर्स के पास मौका है कि वो सरप्लस रकम को 5 साल के लिए एक्सिस बैंक और ICICI Bank के एफडी में डाल सकते हैं. यहां 5.5 फीसदी का ब्याज मिल रहा है. एचडीएफसी बैंक 5.35 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा है. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) क्रमश: 5.40 फीसदी और 5.30 फीसदी की दर से ब्याज दे रहे हैं. (इस खबर का अनुवाद मनीकंट्रोल से किया गया है. इंग्लिश में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading