Flipkart के को-फाउंडर सचिन बंसल का उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक से इस्तीफा

Flipkart के को-फाउंडर सचिन बंसल का उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक से इस्तीफा
सचिन बंसल के ऊपर उनकी पत्नी ने लगाया दहेज उत्पीड़न का आरोप.

सचिन बंसल ने अपने इस्तीफा पत्र में कहा कि बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया है. ऐसे में यह कॉरपोरेट गवर्नेंस के हित में मुझे इस्तीफा दे देना चाहिए. सचिन बंसल ने स्‍पष्‍ट किया है कि उन्होंने किसी और वजह से इस्‍तीफा नहीं दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2020, 12:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की बड़ी ई-कॉमर्स (E-Commerce) कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) के को-फाउंडर सचिन बंसल ने उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक (Ujjivan Small Finance Bank) के स्‍वतंत्र निदेशक (Independent Director) पद से इस्‍तीफा दे दिया. बैंक ने इसकी जानकारी बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (BSE) को दी है.

सचिन बंसल ने अपने इस्तीफा पत्र में कहा कि बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया है. ऐसे में यह कॉरपोरेट गवर्नेंस के हित में है, इसलिए मुझे इस्तीफा दे देना चाहिए. अपने इस्तीफे पत्र में, बंसल ने कहा कि उन्होंने कॉर्पोरेट गवर्नेंस के हितों को ध्यान में रखकर इस्तीफा दिया है, क्योंकि उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया है. ये भी पढ़ें: 1 फरवरी से बदल जाएंगी ये चीजें, आपकी जेब पर होगा सीधा असर





पत्र में सचिन बंसल ने बोर्ड मेंबर्स को संबोधित करते हुए लिखा है, 'मैं 27 जनवरी 2020 से बैंक के एक स्वतंत्र निदेशक के रूप में इस्तीफा देना चाहता हूं. मेरे स्वामित्व वाली एक इकाई ने यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस के लिए RBI को एक आवेदन किया है. ऐसे में मुझे लगता है कि नैतिकता और कॉरपोरेट गवर्नेंस के हित में ये उचित है कि मैं अपने पद को छोड़ दूं. सचिन बंसल ने स्‍पष्‍ट किया है कि उन्होंने किसी और वजह से इस्‍तीफा नहीं दिया है.

ये भी पढ़ें: FD नहीं बल्कि यहां करें निवेश, हर महीने होगी मोटी कमाई, टैक्स भी है बेहद कम

बता दें कि सचिन बंसल अपनी कंपनी नवी टेक्नोलॉजीज (Navi Technologies) के माध्यम से फाइनेंसल सर्विस सेक्टर पर फोकस कर रहे हैं. मई 2018 में फ्लिपकार्ट से निकलने के बाद बंसल ने नवी टेक्नोलॉजीज की स्थापना की थी. इसकी माइक्रो फाइनेंस कंपनी चैतन्य इंडिया फाइनेंस क्रेडिट प्राइवेट लिमिटेड (Chaitanya India Fin Credit Pvt. Ltd- CIFCPL) ने यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया है. इसी ईकाई का जिक्र सचिन बंसल ने अपने इस्‍तीफा पत्र में किया है.

2009 में हुई थी चैतन्य की शुरुआत
चैतन्य की शुरुआत 2009 में हुई थी. कर्नाटक, बिहार, महाराष्ट्र, राजस्थान और झारखंड में इसकी 40 शाखाएं हैं. फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर सचिन बंसल ने सितंबर 2019 में 739 करोड़ रुपए में चैतन्य को खरीदा था.

ये भी पढ़ें:-

अब पोस्‍ट ऑफिस से ही हो जाएंगे आपके ये सारे काम, मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज भी होगा
नहीं है कोई प्रूफ तो ऐसे करें आधार के लिए आवेदन, बेहद आसान है प्रोसेस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading