10 बिलियन डॉलर के आईपीओ से पहले Flipkart जुटाएगी 22 हजार करोड़ रुपये! इन कंपनियों से कर रही बात

फ्लिपकार्ट में वॉलमार्ट की 77.8% हिस्सेदारी है

इस फंडरेजिंग के बाद Flipkart का वैल्यूएशन 30 से 35 बिलियन डॉलर के करीब हो सकता है. इस फंडरेजिंग में Softbank फ्लिपकार्ट में 500 मिलियन डॉलर निवेश करना चाहती है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट (Walmart) की स्वामित्ल वाली ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) इस साल के अंत तक अमेरिकी में लिस्ट होने की तैयारी कर रही है. इसके लिए कंपनी अमेरिका में आईपीओ (IPO) लॉन्च करेगी और इस पब्लिक इश्यू के जरिए 10 बिलियन डॉलर यानी 73,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. इसके जरिए कंपनी अपना वैल्यूएशन 50 बिलियन डॉलर यानी 3.66 लाख करोड़ रुपये करना चाहती है. लेकिन खबर आ रही है कि अपने आईपीओ से पहले फ्लिपकार्ट 3 बिलियन डॉलर यानी 22,000 करोड़ रुपये फंड जुटाने की तैयारी कर रही है.

    3 बिलियन डॉलर की फंड रेजिंग के लिए फ्लिपकार्ट जापान की इंवेस्टमेंट कंपनी सॉफ्टबैंक (Softbank) से बातचीत कर रही है. सॉफ्टबैंक के अलावा कंपनी कनाडा पेंशन प्लान इंवेस्टमेंट बोर्ड (CPPIB), अबु धाबी की कंपनी ADQ से भी बात कर रही है. इसके अलावा इंस फंडरेजिंग में कंपनी की मैजूदा निवेशक कतर इंवेस्टमेंट अथॉरिटी और GIC भी शामिल हो सकती है. इस फंडरेजिंग के बाद फ्लिपकार्ट का वैल्यूएशन 30 से 35 बिलियन डॉलर के करीब हो सकता है. इस फंडरेजिंग में सॉफ्टबैंक फ्लिपकार्ट में 500 मिलियन डॉलर निवेश करना चाहती है.

    अब तक Softbank ने Flipkart में 2.5 बिलियन डॉलर का निवेश किया
    वर्ष 2018 के बाद से अब तक सॉफ्टबैंक ने फ्लिपकार्ट में 2.5 बिलियन डॉलर का निवेश किया है. इस फंडरेजिंग में ADQ जहां 500 मिलियन डॉर निवेश करने के लिए बातचीत कर रही है, वहीं CPPIB कंपनी में 800 मिलियन डॉलर निवेश करने के लिए बातचीत कर रही है. इनके अलावा GIC और कतर इंवेस्टमेंट अथॉरिटी (QIA) 1 बिलियन डॉलर निवेश कर सकती है.

    फ्लिपकार्ट में वॉलमार्ट की है 77.8% हिस्सेदारी
    फ्लिपकार्ट में वॉलमार्ट की 77.8% हिस्सेदारी है. जबकि चाइनीज कंपनी टेन्सेंट की 5% हिस्सेदारी, QIA की 1.5%, टाइगर ग्लोबल की 4.5%, कंपनी के को-फाउंडर बिन्नी बसंल की 3.3%, ईसॉप पूल की 5.1% और अन्य कंपनियों की हिस्सेदारी 2.8% है. आपको बता दें कि फ्लिपकार्ट 80 से ज्यादा कैटेगरी में 1.5 करोड़ प्रोडक्ट ऑफर करती है. कंपनी का रजिस्टर्ड कस्टमर बेस 30 करोड़ का है.