Flipkart जुटाएगी 3 अरब डॉलर का फंड, जापान-सिंगापुर समेत कई देशों के निवेशकों से कर रही है बात

इ्र-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट 3 अरब डॉलर फंड जुटाने के लिए जापान, सिंगापुर समेत कई देशों के निवेशकों से बात कर रही है.

इ्र-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट 3 अरब डॉलर फंड जुटाने के लिए जापान, सिंगापुर समेत कई देशों के निवेशकों से बात कर रही है.

कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन से ई-कॉमर्स सेक्टर (e-Commerce Sector) को काफी फायदा मिला है. फ्लिपकार्ट (Flipkart) की अगले साल आईपीओ (IPO) लाने की योजना भी है. यह किसी भारतीय स्टार्टअप का सबसे बड़ा आईपीओ हो सकता है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. देश की बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों में शामिल फ्लिपकार्ट (Flipkart ) कम से कम 3 अरब डॉलर जुटाने के लिए सॉफ्टबैंक ग्रुप (SoftBank Group) समेत कुछ सॉवरेन वेल्थ फंड्स से बात कर रही है. फ्लिपकार्ट इसके लिए करीब 40 अरब डॉलर का वैल्यूएशन चाहती है. फ्लिपकार्ट के मालिकाना अधिकार अमेरिका की वॉलमार्ट (Walmart) के पास हैं. फंड हासिल करने के लिए फ्लिपकार्ट की सिंगापुर के जीआईसी (GIC) और अबु धाबी इनवेस्टमेंट अथॉरिटी जैसे निवेशकों से भी बातचीत जारी है. जापान के सॉफ्ट बैंक की ओर से 30 से 50 करोड़ डॉलर का इनवेस्टमेंट किया जा सकता है.

फ्लिपकार्ट अगले साल ला सकती है आईपीओ

सॉफ्ट बैंक पहले भी फ्लिपकार्ट में निवेश कर चुका है. हालांकि, बाद में उसने कंपनी में अपनी हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेच दी थी. पिछले 18 महीनों में ई-कॉमर्स मार्केट तेजी से बढ़ा है. कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन से इस सेक्टर को काफी फायदा मिला है. फ्लिपकार्ट की अगले साल आईपीओ (Flipkart IPO) लाने की योजना भी है. यह किसी भारतीय स्टार्टअप का सबसे बड़ा आईपीओ हो सकता है. कंपनी की शुरुआत अमेजन के दो इंजीनियर्स ने की थी. इसे 2018 में वॉलमार्ट ने खरीद लिया था. यह वॉलमार्ट का अभी तक का सबसे बड़ा अधिग्रहण है. फ्लिपकार्ट के पास फैशन रिटेलर मिंत्रा और फ्लिपकार्ट होलसेल जैसी यूनिट्स भी हैं. इसकी डिजिटल पेमेंट्स ऐप फोनपे (PhonePe) में बड़ी हिस्सेदारी है.

ये भी पढ़ें- जानें दीपावली तक बढ़ाई गई मुफ्त अनाज योजना में कैसे करें आवेदन, बिना राशन कार्ड के कैसे मिलेगा फायदा
आईआरसीटीसी के शेयर में 10 फीसदी बढ़त

इस बीच 7 जून 2021 को रेलवे की सहयोगी कंपनी आईआरसीटीसी (IRCTC) के शेयर बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (BSE) पर 10 फीसदी की तेजी के साथ 2,114 रुपये के सर्वोच्‍च स्‍तर पर पहुंच गए. इसके शेयर 9.18 फीसदी की तेजी के साथ 2098.60 रुपये पर बंद हुए. नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज (NSE) पर आईआरसीटीसी के शेयर 10 फीसदी चढ़कर 2113.85 रुपये के 52 सप्‍ताह के उच्‍चस्‍तर पर बंद हुए. आईआरसीटीसी के फंडामेंटल्स मजबूत हैं. इससे भी कंपनी के स्टॉक्स को सपोर्ट मिला है. ट्रेन टिकटिंग में आईआरसीटीसी की मोनोपोली है. इस वजह से निवेशकों ने इसके स्टॉक्स में जमकर पैसा लगाया है. कंपनी डिजिटल ट्रेन टिकट बुकिंग में 60 से 65 फीसदी प्रॉफिट मार्जिन पर काम करती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज