बैंकिंग सिस्टम में है ज्यादा नकदी, 10 साल में सबसे कम ब्‍याज दर पर मिल रहा Home Loan

घर खरीदने का इससे मुफीद समय शायद ही फिर जल्द मिले.

घर खरीदने का इससे मुफीद समय शायद ही फिर जल्द मिले.

अगर आप मकान खरीदने की योजना बना रहे हैं तो अभी आपके पास शानदार मौका है. एसबीआई सहित कई बैंकों होम लोन की ब्याज दरों में कटौती कर दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप घर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है. दरअसल, अत्यधिक लिक्विडिटी (Liquidity) के बीच देश के प्रमुख बैंकों ने अपनी होम लोन रेट्स (Home Loan Rates) को घटाकर एक दशक के निचले स्तर पर ला दिया है. इनमें एसबीआई (SBI), एचडीएफसी (HDFC), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) और कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) शामिल हैं. इससे ग्राहकों के पास होम लोन के कई ऑप्शन उपलब्ध हो गए हैं.

पिछले सप्ताह तक बैंकों के पास 6.5 लाख करोड़ रुपये की नकदी
अत्यधिक लिक्विडिटी की स्थिति के बीच बैंकों में ब्याज दर युद्ध छिड़ा हुआ है. केयर रेटिंग्स (CARE Ratings) की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले सप्ताह तक बैंकों के पास 6.5 लाख करोड़ रुपये की नकदी थी. अत्यधिक नकदी से बैंकों का मुनाफा प्रभावित होता है, क्योंकि उन्हें जमाकर्ताओं को इसके लिए ब्याज देना होता है. हालांकि, इसकी ब्याज दर अभी 2.5 फीसदी के निचले स्तर पर है.

ये भी पढ़ें- LPG Gas Subsidy Status: क्या आपके अकाउंट में आ रही है गैस सब्सिडी, ऐसे आसानी से करें पता
लोन की मांग छह फीसदी से कम


इसके अलावा आरबीआई भी बैंकों से रेपो रेट में आई कमी के अनुरूप कटौती के लिए दबाव बना रहा है. मार्च, 2020 से रिजर्व बैंक ने रेपो रेट को दो फीसदी घटाकर चार फीसदी कर दिया है. हालांकि, इसके बावजूद लोन की मांग छह फीसदी से कम है. आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक, बीते वित्त वर्ष में महामारी की वजह से होम लोन की वृद्धि घटी है. इसकी शुरुआत मार्च, 2020 से हो गई थी. जनवरी, 2020 में होम लोन की वृद्धि 17.5 फीसदी थी, जो जनवरी, 2021 में घटकर 7.7 फीसदी रह गई है.

एसबीआई का होम लोन एनपीए सिर्फ 0.67 फीसदी
मौजूदा परिदृश्य में होम लोन बैंकों के लिए सबसे सुरक्षित दांव है. इसमें एनपीए कम होती हैं. एसबीआई का होम लोन एनपीए सिर्फ 0.67 फीसदी है. होम लोन के मामले में महामारी की वजह से ग्राहक भी लाभ की स्थिति में हैं. संपत्ति के दाम घटे हैं. वहीं कई राज्यों ने स्टाम्प शुल्क भी घटाया है. हालांकि, इसके बावजूद बैंक लोन के लिए दरों में भिन्नता रख रहे हैं। ग्राहकों को कर्ज देने से पहले उनका ‘क्रेडिट स्कोर’ देखा जाता है.

HDFC को छोडकर बैंकों की नई दरें सिर्फ 31 मार्च तक
एसबीआई और कोटक महिंद्रा बैंक ने अपने होम लोन की दर घटाकर क्रमश 6.7 फीसदी ओर 6.65 उीसदी कर दी है. हालांकि, इस दर पर सिर्फ उन्हीं ग्राहकों को कर्ज मिलेगा, जिनका क्रेडिट स्कोर 800 या अधिक होगा. इसके अलावा एचडीएफसी को छोड़कर अन्य बैंकों की नई दरें सिर्फ 31 मार्च तक हैं.

ये भी पढ़ें- बहुत आसान है Credit Card Statement समझना, जानें किन-किन चीजों की मिलती है जानकारी

देश के इन 4 बड़े बैंकों ने सस्ता कर दिया है होम लोन
एसबीआई ने अपनी होम लोन रेट को 0.10 फीसदी घटाकर 6.7 फीसदी कर दिया है. साथ ही उसने प्रोसेसिंग शुल्क में भी छूट दी है. कोटक महिंद्रा बैंक ने भी अपनी होम लोन रेट को 0.10 फीसदी घटाकर 6.65 फीसदी कर दिया है. कोटक महिंद्रा बैंक द्वारा लोन रेट को घटाने के दो दिन बाद एचडीएफसी ने भी अपने नए और मौजूदा ग्राहकों के लिए होम लोन रेट को असीमित अवधि के लिए 0.05 फीसदी घटाकर 6.75 फीसदी कर दिया था. बाद में एचडीएफसी ने होम लोन रेट में 0.05 फीसदी की और कटौती की. इन बैंकों के बाद आईसीआईसीआई बैंक ने भी पांच मार्च को 75 लाख रुपये तक के होम लोन पर ब्याज दर को घटाकर 6.7 फीसदी कर दिया. 75 लाख रुपये से अधिक के कर्ज के लिए ब्याज दर 6.75 फीसदी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज