दिवाली पर लाखों लोगों को सरकार ने दिया गिफ्ट, अब इन 26 सेक्टर को मिलेगा ECLGS का फायदा

26 स्ट्रेस्ड सेक्टर्स के लिए क्रेडिट गारंटी सपोर्ट
26 स्ट्रेस्ड सेक्टर्स के लिए क्रेडिट गारंटी सपोर्ट

सरकार ने तीसरे पैकेज में 26 सेक्टर्स को क्रेडिट गारंटी सपोर्ट (ECGLS) स्कीम का फायदा देने की बात कही है, जो सेक्टर सबसे ज्यादा दबाव में है उनको इस लोन स्कीम का फायदा मिलेगा. आइए आपको इस स्कीम के बारे में बताते हैं-

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 7:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण तीसरे राहत पैकेज का ऐलान कर रही हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हाल के आंकड़े अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत दे रहे हैं. तीसरे राहत पैकेज से इकोनॉमी को बूस्ट मिलेगा. इसके साथ ही देश में रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा. सरकार ने तीसरे पैकेज में 26 सेक्टर्स को क्रेडिट गारंटी सपोर्ट (ECGLS) स्कीम का फायदा देने की बात कही है, जो सेक्टर सबसे ज्यादा दबाव में है उनको इस लोन स्कीम का फायदा मिलेगा. आइए आपको इस स्कीम के बारे में बताते हैं-

26 स्ट्रेस्ड सेक्टर्स के लिए क्रेडिट गारंटी सपोर्ट
आज के राहत पैकेज में सरकार ने कोविड-19 महामारी के बीच सबसे ज्यादा नुकसान झेलने वाले 26 सेक्टर्स के लिए क्रेडिट गारंटी सपोर्ट स्कीम का ऐलान किया है. क्रेडिट गारंटी सपोर्ट स्कीम के तहत सरकार 20 फीसदी तक का आउटस्टैंडिंग क्रेडिट की सुविधा देगी. इसके अलावा आप 5 साल (1 साल मोरेटोरियम+ 4 साल रिपेमेंट) में रिपेंमेंट कर सकते हैं.


यह भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने आत्मनिर्भर पैकेज 1 और 2 की पेश की प्रोग्रेस रिपोर्ट, कहां - मजदूरों और किसानों मिला बड़ा फायदा





मूलधन चुकाने के लिए दिया जाएगा 5 साल का समय
निर्मला सीतारमण ने कहा कि कामत कमेटी की सिफारिश के मुताबिक 26 दबावग्रस्तऔर स्वास्थ्य सेक्टर के लिए इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम (ECGLS) के तहत लाभ दिया गया है. मूलधन चुकाने के लिए 5 साल का समय दिया गया है. यह योजना 31 मार्च 2021 तक रहेगी.

31 मार्च तक बढ़ाई डेडलाइन
इसके अलावा वित्त मंत्रालय ने इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम (ECGLS) स्कीम की डेडलाइन बढ़ाकर 31 मार्च 2021 कर दी गई है. कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार ने MSME आसान शर्त पर कर्ज उपलब्ध कराने के लिए इस स्कीम को लॉन्च किया था.

अब तक 61 लाख कर्जदारों को मिली लोन की सुविधा
इमरजेंसी क्रेडिट लाइन स्कीम (ईसीजीएलएस) के तहत 61 लाख कर्जदारों को 2 लाख करोड़ से ज्यादा का लोन आवंटित कर दिया गया है. इसमें से 1.52 लाख करोड़ रुपये वितरित कर दिए गए हैं.

आपको बता दें 29 फरवरी 2020 तक 50 करोड़ रुपये के के आउटस्टैंडिंग लोन (Outstanding Loan) का 20 फीसदी ​अतिरिक्त क्रेडिट दिया जायेगा. एमएसएमई ईकाई, बिजनेस एंटरप्राइज, व्यक्तिगत लोन और मुद्रा लोन को इस स्कीम के दायरे में शामिल किया गया है.

यह भी पढ़ें: खुशखबरी: दिवाली से पहले केंद्र सरकार का बड़ा तोहफा, करोड़ों लोगों को मिलेगा ये गिफ्ट!

आत्मनिर्भर पैकेज का इन लोगों को मिला फायदा
वित्त मंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के तहत उठाये गये कदमों से ​मजदूरों को काफी फायदा हुआ है. इसी तरह किसानों को राहत देने के प्रयासों का भी अच्छा नतीजा आया है. उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के तहत ईसीएलजीस स्कीम के तहत 61 लाख लोगों ने लाभा उठाया है. इसमें 1.52 लाख करोड़ रुपये वितरित किये जा चुके हैं और 2.05 लाख करोड़ रुपये के कर्ज की मंजूरी दी गई है. उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स विभाग ने सक्रियता और तेजी दिखाते हुए 1.32 लाख करोड़ रुपये का रिफंड दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज