लाइव टीवी

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा- बजट में हमने 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था की बुनियाद रखी

भाषा
Updated: February 9, 2020, 9:23 PM IST
वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा- बजट में हमने 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था की बुनियाद रखी
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता में कहा कि केंद्र सरकार ने देश को 2024-25 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिये बजट में उपभोग बढ़ाने की जमीन तैयार करने के साथ-साथ ढांचागत सुविधाओं के विकास में सरकारी निवेश की व्यवस्था सुनिश्चित की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने रविवार को कहा कि केंद्र सरकार ने देश को 2024-25 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिये बजट में उपभोग बढ़ाने की जमीन तैयार करने के साथ-साथ ढांचागत सुविधाओं के विकास में सरकारी निवेश की सुनिश्चित व्यवस्था की है. वित्त मंत्री ने वस्तु एवं सेवा कर (GST) प्रणाली में दरों के स्थायित्व की आवश्यकता पर भी बल दिया. दरों में हर तीन महीने के बजाय साल में केवल एक बार संशोधन की वकालत की.

सीतारमण ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमने उपभोग बढ़ाने तथा पूंजीगत खर्च सुनिश्चित करने की आधारशिला रख दी है. सरकार का निवेश बुनियादी संरचना में निर्माण में लगेगा, जिसका अल्पावधि और दीर्घावधि दोनों में असर होगा.’’

यह भी पढ़ें: 1 अप्रैल से बदल जाएगी ये सरकारी पेंशन स्कीम, जानें इसके बारे में सबकुछ



उन्होंने कहा, ‘‘ग्रामीण क्षेत्र की दिक्कतों को दूर करने के लिये बजट में 16 सूत्रीय कार्ययोजना की घोषणा की गयी है. अत: मेरा अनुमान है कि ये कदम देश को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की राह पर आगे ले जाएंगे.’’

यह पूछे जाने पर कि बजट में पश्चिम बंगाल को क्या मिला, वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘मैं नहीं जानती हूं कि किसको क्या मिला के सवाल का किस तरह से जवाब दूं. मैं वृहद आर्थिक स्थिरता और देश में संपत्ति सृजन के दृष्टिकोण से देख रही हूं. कर की घटी दरों से लोगों के हाथों में अधिक पैसा पहुंच रहा है.’’ उन्होंने कहा कि बजट में जिन परियोजनाओं को लेकर घोषणाएं की गयी हैं, वे परियोजनाएं विभिन्न राज्यों में चल रही हैं.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार की मदद से ऐसे शुरू करें बिजनेस, मिलेगी 25% सब्सिडी और 25 लाख का लोन

उद्योगों व कारोबारों के साथ लगातार जुड़े रहना चाहती है सरकार
इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि सरकार उद्योगों और कारोबारों के साथ लगातार जुड़े रहना चाहती है तथा करों के भुगतान को सहज बनाने के लिए उनकी सहायता करेगी. सीतारमण यहां व्यापार एवं उद्योग जगत के प्रतिनिधियों से बातचीत कर रही थीं.

बजट में उद्यमियों और व्यवसायियों के लिए बहुत कुछ
उन्होंने कहा, ‘‘यह संदेश स्पष्ट दिख रहा है कि सरकार उद्यमियों और व्यवसायियों से निरंतर संवाद रखना चाहती है. मैं यहां देश के अंदर और बाहर की दुनिया की घटनाओं के कारण यहां नहीं आयी हूं.’’ जाहिर तौर पर उनका यह कहना था के वह उद्योग व्यापार जगत से संवाद के लिए यहां आयी हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने बजट में कर मामलों में अपील करने तथा कर भुगतान की प्रक्रिया में अधिकारियों और करदाताओं के एक-दूसरे के सामने उपस्थित होने की अनिवार्यता समाप्त करने जैसे कदमों को शामिल किया है.

यह भी पढ़ें: बदलने वा ला है इन 3 सरकारी बैंकों का नाम, आपको निपटाने होंगे ये 5 काम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 8:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर