Home /News /business /

foreign investors attitude changed fpis put rs 7707 crore in indian stock markets so far in april pmgkp

विदेशी निवेशकों का रूख बदला, एफपीआई ने अप्रैल में अबतक भारतीय शेयर बाजारों में 7,707 करोड़ रुपये डाले

 डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 1-8 अप्रैल के दौरान भारतीय शेयरों में शुद्ध रूप से 7,707 करोड़ रुपये का निवेश किया है.

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 1-8 अप्रैल के दौरान भारतीय शेयरों में शुद्ध रूप से 7,707 करोड़ रुपये का निवेश किया है.

शेयर बाजारों में ‘करेक्शन’ ने एफपीआई को लिवाली का अच्छा अवसर दिया है, जिससे इस महीने वे शुद्ध लिवाल रहे हैं. एक्सपर्ट के मुताबिक, एफपीआई प्रवाह को अभी ट्रेंड में बदलाव कहना थोड़ा जल्दबाजी होगा. इस मोर्चे पर चीजें अधिक स्पष्ट हो सकें इसके लिए अगले कुछ सप्ताह या माह का इंतजार करना होगा.

अधिक पढ़ें ...

मुंबई . छह माह तक लगातार बिकवाली के बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) का रूख बदला है. लगातार बिकवाली के बाद अब विदेशी निवेशक फिर से भारतीय बाजार में पैसा डाल रहे हैं. एफपीआई ने अप्रैल में अबतक भारतीय शेयर बाजारों में 7,707 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश किया है. शेयर बाजारों में ‘करेक्शन’ ने एफपीआई को लिवाली का अच्छा अवसर दिया है, जिससे इस महीने वे शुद्ध लिवाल रहे हैं.

मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक, प्रबंधक-शोध हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि एफपीआई प्रवाह को अभी प्रवृत्ति में बदलाव कहना थोड़ा जल्दबाजी होगा. इस मोर्चे पर चीजें अधिक स्पष्ट हो सकें इसके लिए अगले कुछ सप्ताह या माह का इंतजार करना होगा.

यह भी पढ़ें- Veranda Learning IPO कल लिस्ट होगा, एक्सपर्ट से समझिए कैसी हो सकती है लिस्टिंग

हालिया ‘करेक्शन’ ने निवेश के अवसर खोले
डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 1-8 अप्रैल के दौरान भारतीय शेयरों में शुद्ध रूप से 7,707 करोड़ रुपये का निवेश किया है. श्रीवास्तव ने कहा कि एफपीआई के प्रवाह से संकेत मिलता है कि उन्होंने अपने पोर्टफोलियो के पुनर्मूल्यांकन को पूरा कर लिया है. इसके अलावा शेयर बाजारों में हालिया ‘करेक्शन’ ने भी उनके लिए निवेश के अवसर खोले हैं.

पिछले छह माह में लगातार बिकवाली
हालांकि, पिछले दो कारोबारी सत्रों में एफपीआई ने बिकवाली की है. ऐसे में अभी एफपीआई प्रवाह की दिशा को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हैं. इससे पहले अक्टूबर, 2021 से मार्च, 2022 तक छह माह में एफपीआई ने शेयरों से शुद्ध रूप से 1.48 लाख करोड़ रुपये निकाले थे.

यह भी पढ़ें- SEBI ने NSE Scam जैसे घोटाले रोकने और सुधार के लिए उठाया कदम, पढ़िए पूरा डिटेल

समीक्षाधीन अवधि में एफपीआई ने शेयरों के अलावा बांड या ऋण बाजार में भी 1,403 करोड़ रुपये डाले हैं. इससे पिछले दो माह (फरवरी-मार्च) के दौरान उन्होंने बांड बाजार से 8,705 करोड़ रुपये निकाले थे. पिछले महीने तक एफपीआई शुद्ध बिकवाल बने हुए थे. मार्च लगातार छठा महीना था जब एफपीआई ने  भारतीय बाजारों से पैसे निकाले. एक्सपर्ट के मुताबिक, मुख्य रूप से एफपीआई वित्तीय और आईटी कंपनियों के शेयर बेच रहे थे. इसकी वजह है कि एफपीआई के पोर्टफोलियो में सबसे अधिक इन्हीं शेयरों की हिस्सेदारी है.

Tags: BSE Sensex, FPI, Investment, Nifty, Share market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर