Home /News /business /

LIC में विदेशी निवेशक भी लगाएंगे पैसा, केंद्र सरकार एफडीआई को मंजूरी देने की कर रही है तैयारी!

LIC में विदेशी निवेशक भी लगाएंगे पैसा, केंद्र सरकार एफडीआई को मंजूरी देने की कर रही है तैयारी!

LIC IPO से पहले केंद्र सरकार एफडीआई की अनुमति देने की योजना पर काम कर रही है.

LIC IPO से पहले केंद्र सरकार एफडीआई की अनुमति देने की योजना पर काम कर रही है.

केंद्र सरकार की एलआईसी (LIC) में 100 फीसदी हिस्सेदारी है. देश की ज्‍यादातर बीमा कंपनियों में 74 फीसदी एफडीआई (FDI) की अनुमति है. हालांकि, संसद के कानून से बनी विशेष कंपनी होने के कारण ये नियम एलआईसी पर लागू नहीं होता है.

  • Agency
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. केंद्र सरकार भारतीय जीवन बीमा निगम में अपनी हिस्‍सेदारी बेचने (Government Stake Sale) की कवायद में जुटी है. इसके लिए एलआईसी का आईपीओ (LIC IPO) लाने की योजना पर काम किया जा रहा है. केंद्र सरकार देश के सबसे बड़े आईपीओ में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (FDI) की मंजूरी भी दे सकती है. इसके बाद कोई भी विदेशी निवेशक देश के सार्वजनिक क्षेत्र की सबसे बड़ी बीमा कंपनी में हिस्‍सेदारी खरीद सकता है. यही नहीं, एफडीआई को मंजूरी के बाद बड़े पेंशन फंड्स (Pension Funds) और इंश्‍योरेंस कंपनियां (Insurance Companies) आईपीओ में बोली लगा सकेंगी.

    216 अरब डॉलर पहुंच सकती है एलआईसी की वैल्‍यू
    केंद्र सरकार की एलआईसी में 100 फीसदी हिस्सेदारी है. देश की ज्‍यादातर बीमा कंपनियों में 74 फीसदी एफडीआई की अनुमति है. हालांकि, संसद के कानून से बनी विशेष कंपनी होने के कारण ये नियम एलआईसी पर लागू नहीं होता है. सूत्रों के मुताबिक, एलआईसी में एफडीआई की अनुमति को लेकर चर्चा शुरुआती दौर में है. बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के मुताबिक, किसी विदेशी व्यक्ति या कंपनी की ओर से 10 फीसदी या ज्‍यादा हिस्सेदारी खरीद एफडीआई मानी जाती है. विशेषज्ञों के मुताबिक, शेयर बाजारों में सूचीबद्ध (Listed Company) होने के बाद एलआईसी की वैल्यू 261 अरब डॉलर पहुंच सकती है.

    ये भी पढ़ें- Bajaj Finance के स्‍टॉक ने 10 साल में दिया 36257 फीसदी मुनाफा, SBI से ज्‍यादा हुआ मार्केट कैप, चेक करें डिटेल्‍स

    दीपम के सामने प्रेजेंटेशन देंगे बुक रनिंग लीड मैनेजर
    एलआईसी के आईपीओ के लिए 16 बुक रनिंग लीड मैनेजर डिपार्टमेंट ऑफ इंवेस्‍टमेंट एंड पब्लिक असेट मैनेजमेंट (DIPAM) के सामने प्रेजेंटेशन देंगे. उम्‍मीद की जा रही है कि ये प्रक्रिया 2 दिन के भीतर पूरी हो जाएगी. वहीं, एलआईसी के शेयरों की बिक्री के लिए 16 मर्चेंट बैंकर सूची में शामिल होने की कोशिश कर रहे हैं. गोल्डमैन सैक्स (Goldman Sachs), जेपी मॉर्गन (JP Morgan), बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज (Bank of America Securities) जैसे कई इंटरनेशनल बैंकों ने भी एलआईसी के लिए मर्चेंट बैंकर नियुक्त होने में दिलचस्पी दिखाई है.

    Tags: Business news in hindi, Goldman Sachs Group Inc, Insurance, Jp morgan, LIC IPO, Life Insurance Corporation of India (LIC), Share market

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर