• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • FOREIGN PORTFOLIO INVESTORS PULLED OUT 6452 CRORE RUPEES IN MAY TILL NOW 2021 NDSS

कोरोना का दिख रहा असर, विदेशी निवेशक लगातार निकाल रहे पैसा, मई में की 6452 करोड़ की निकासी

एफपीआई

Foreign portfolio investors: विदेशी निवेशकों ने 1 से 14 मई के बीच शेयर बाजारों से 6,427 करोड़ रुपये और 25 करोड़ रुपये बांड बाजार से निकाले हैं. इस दौरान शुद्ध रूप से 6,452 करोड़ रुपये बाजार से निकाले गये.

  • Share this:
    नई दिल्ली: विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने भारतीय बाजार से मई में अबतक 6,452 करोड़ रुपये निकाले हैं. कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण निवेशकों की धारणा प्रभावित होने के बीच बाजार से निवेश राशि निकाली गयी है. डिपॉजिटरी आंकड़े के मुताबिक, विदेशी निवेशकों ने 1 से 14 मई के बीच शेयर बाजारों से 6,427 करोड़ रुपये और 25 करोड़ रुपये बांड बाजार से निकाले हैं. इस दौरान शुद्ध रूप से 6,452 करोड़ रुपये बाजार से निकाले गये.

    जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश अधिकारी वी के विजयकुमार ने कहा, ‘‘एफपीआई निकासी का कारण कोविड-महामारी की दूसरी लहर, इसकी रोकथाम के लिये विभिन्न राज्यों में लगाये गये ‘लॉकडाउन’ तथा इसके कारण जीडीपी (GDP) वृद्धि और कंपनियों के आय और लाभ पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर चिंता है.’’

    यह भी पढ़ें: Indian Railways: ट्रेन से सफर करने वालों के लिए जरूरी खबर, रेलवे ने 21 मई तक कैंसिल कर दीं कई ट्रेनें, चेक करें लिस्ट

    शेयर बाजार और बांड बाजार से की निकासी
    आपको बता दें इससे पिछले महीने शेयर बाजार और बांड बाजार से शुद्ध रूप से कुल 9,435 करोड़ रुपये की निकासी गयी थी. ग्रे के सह-संस्थापक और मुख्य परिचालन अधिकारी हर्ष जैन ने कहा कि महामारी और उसकी रोकथाम के लिये लगाये गये ‘लॉकडाउन’ से अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाला वास्तविक प्रभाव अभी साफ नहीं है, लेकिन निवेशक परेशान तथा सतर्क हैं.

    मॉर्निंग स्टार इंडिया के एसोसएिट निदेशक-शोध प्रबंधक हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि एफपीआई का ध्यान अब आर्थिक आंकड़ों के साथ इस बात पर है कि भारत कितनी जल्दी आर्थिक गति को प्राप्त करता है. अगर समस्या लंबे समय तक बनी रहती है, तो इसका नकारात्मक असर पड़ेगा.
    Published by:Shivani sharma
    First published: