अरुण जेटली के हटने के बाद अब कौन बनेगा वित्त मंत्री, इन नामों को लेकर अटकलें तेज

अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर कहा है कि नई सरकार में उन्हें कोई मंत्री पद ना दिया जाए. ऐसे में अब वित्त मंत्रालय का कार्यभार किसको सौंपा जाएगा. इसको लेकर कौन नाम चर्चा में हैं. आइए जानें

News18Hindi
Updated: May 29, 2019, 3:52 PM IST
News18Hindi
Updated: May 29, 2019, 3:52 PM IST
नरेंद्र मोदी अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत गुरुवार को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद करने जा रहे हैं. लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेता और पिछली सरकार में वित्त मंत्री रहे अरुण जेटली ने लेटर लिखकर अपील की है कि उन्हें इस कार्यकाल में मंत्री ना बनाया जाए, क्योंकि उनकी सेहत खराब है. ऐसे में वित्त मंत्री पद को लेकर अटकलों का बाजार तेज हो गया है. वित्त मंत्री को लेकर दो नामों की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है. पहला पीयूष गोयल तो दूसरा नाम अमित शाह का है. वहीं, किसी बड़े अर्थशास्त्री को भी वित्त मंत्री के लिए चुना जा सकता है.

आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी गुरुवार शाम सात बजे राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. उनके साथ कैबिनेट मंत्री भी शपथ लेंगे, ये समारोह राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होगा. इसमें करीब 6500 मेहमान शामिल हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें-खुशखबरी! मोदी सरकार बेचेगी सस्ता AC, जानिए क्या है ये स्कीम

पीयूष गोयल बनेंगे वित्त मंत्री?

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में वित्त मंत्री बनने की दौड़ में पीयूष गोयल का नाम सबसे आगे चल रहा है.



मीडिया रिपोर्ट्स में उनके नाम को लेकर चर्चाएं तेज हैं. दरअसल मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में जब अरुण जेटली की तबियत खराब हुई थी तो उन्होंने ही यह पद संभाला था. पीयूष गोयल ने ही मोदी सरकार का आखिरी बजट पेश किया था. ऐसे में उनका नाम इस रेस में सबसे आगे है.
अमित शाह के नाम को लेकर भी चर्चाएं तेज
कई मीडिया रिपोर्ट्स में अमित शाह को अगला वित्त मंत्री बनाए जाने की बातें हो रही है.

अमित शाह भी आर्थिक मामलों से जुड़े रहे हैं. इसीलिए वह भी रेस में बने हुए है. हालांकि, अभी तक सिर्फ अटकलें लगाई जा रही है.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार की खास योजना बिना गारंटी के पाएं 10 लाख का लोन!

तीसरा नाम जो चर्चा में बना हुआ है वह निर्मला सीतारमण का. फिलहाल उनके पास रक्षा मंत्रालय था, ऐसे में अगर इस बार उनका मंत्रालय बदला जाता है तो वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी उन्हें मिल सकती है. इससे पहले मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में उन्होंने कॉर्पोरेट मंत्रालय की जिम्मेदारी भी संभाली थी. ऐसे में उनके नाम को जोर मिलता दिख रहा है.

इसके अलावा एक और विकल्प के तौर पर गैर राजनीतिक नाम की अटकलें लग रही है. जैसे कि पहले देखा गया था कि गैर राजनीतिक व्यक्ति मनमोहन सिंह को वित्त मंत्री बनाया गया था.

ये भी पढ़ें-खुशखबरी! RBI ने पैसे के लेनदेन नियम में किया ये बदलाव, आपको होगा फायदा

आपको बता दें कि बुधवार को अरुण जेटली ने ट्विटर पर एक चिट्ठी जारी की. अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख अपील की है कि उन्हें मंत्री बनाने पर विचार ना किया जाए. जेटली ने अपने खत में लिखा है कि पिछले 18 महीने से उनकी तबियत खराब है ऐसे में वह जिम्मेदारी को नहीं निभा पाएंगे. इसलिए उन्हें मंत्री बनाने पर कोई विचार ना करें.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...