IIT के पूर्व स्टूडेंट ने बनाया 'मोक्ष' अब कोरोना और दिल्ली के प्रदूषण से मिलेगी राहत, जानिए कितनी है कीमत

अब 'मोक्ष' दिलाएगा दिल्ली के प्रदूषण और कोरोना से राहत
अब 'मोक्ष' दिलाएगा दिल्ली के प्रदूषण और कोरोना से राहत

IIT के पूर्व छात्र ने एक मास्क बनाया है. इस मास्क का नाम मोक्ष है. इसको मेक इन इंडिया (Make in india) के तहत बनाया है. इसमें दो फैन लगे हैं, जिसके जरिए आप प्यूरीफाइड एयर को इनहेल कर सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 12:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: दिवाली के बाद देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का लेवल लगातार बढ़ रहा है और कोरोना का कहर भी कम होने का नाम नहीं ले रहा है. ऐसे में आम जनता को सेफ्टी के लिए कई तरह से प्रयास किए जा रहे हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए IIT के पूर्व छात्र ने एक मास्क बनाया है. इस मास्क का नाम मोक्ष है. इसको मेक इन इंडिया (Make in india) के तहत बनाया है. इसमें दो फैन लगे हैं, जिसके जरिए आप प्यूरीफाइड एयर को इनहेल कर सकेंगे. आइए आपको इस मास्क की कीमत और फायदे के बारे में बताते हैं-

ट्वीट कर दी जानकारी
MyGovHindi ने ट्वीट करके इस बारे में जानकारी दी है. MyGovHindi ट्वीट में लिखा कि आईआईटी खड़गपुर के पीयूष अग्रवाल ने बैटरी से चलने वाला फैन वाला मास्क बनाया है. देखिए इस मास्क से प्रदूषण व महामारी से निपटने में कैसे मिलेगी मदद.

यह भी पढ़ें: बैंक अकाउंट को आधार से लिंक करने के चक्कर में कहीं खाली न हो जाए खाता, जान लें ये जरूरी बात




लगभग 8 घंटे चलती है इसकी बैटरी
IIT खड़गपुर और IIM कलकत्ता के पूर्व छात्र रह चुके पीयूष अग्रवाल ने बैटरी से चलने वाले मास्क बनाया है. इस मास्क की खासियत यह है कि इसमें इन और आउट फैन लगाया गया है जोकि भरपूर मात्रा में आक्सीजन देता है और इसकी बैटरी लगभग 8 घंटे काम करती है. PQR टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड को कवच मास्क बजट के तहत सरकार से पैसा भी मिला है.

कितनी है मास्क की कीमत?
इस मास्क की कीमत लगभग 3 हजार रुपए रखी गई है. इस मास्क के अंदर हमेशा स्वच्छ और प्यूरीफाइड एयर मिलता है. इस फैन वाले मास्क का नाम मोक्ष रखा गया है. इसको मेक इन इंडिया की तर्ज पर बनाया जा रहा है. इस मास्क को मेडिकल कर्मी सफाई कर्मी के साथ-साथ आम जनता के लिए भी तैयार किया गया है.

लोगों को मिल रहा रोजगार
इस मास्क को तैयार कर रहे कारीगरों को कोरोना के संकट में रोजगार मिल रहा है. इसके साथ ही वह इस नई टेक्नोलॉजी से काफी कुछ सीख भी रहे हैं.

पीयूष अग्रवाल ने दी जानकारी
पीयूष अग्रवाल ने बातचीत में बताया कि इस मास्क का कॉन्सेप्ट और डिजाइन पूरी तरह से भारत में ही बनाया गया है. यह कोरोना से भी बचा रहा है और दिल्ली के पॉल्यूशन से भी सेफ कर रहा है.

यह भी पढ़ें: रेलवे ने कैंसिल की कई ट्रेनें, छठ पर जा रहे घर तो फटाफट चेक कर लें अपना गाड़ी नंबर...!

ओलंपिक में भाग लेने वाले एथलीट भी कर रहे इस्तेमाल
इसके साथ ही अगले साल ओलंपिक की तैयारी में जुटे एथलीट भी इस मास्क को पहन कर तैयारी कर रहे हैं. इस मास्क के जरिए वह लगातार अपनी प्रैक्टिस जारी कर रहे हैं इसके साथ ही वह कोविड-19 से भी अपने आप को बचा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज