लाइव टीवी

अर्थव्यवस्था को लेकर मनमोहन सिंह ने निर्मला सीतारमण पर किया पलटवार, कही ये बड़ी बातें

News18Hindi
Updated: October 17, 2019, 4:26 PM IST
अर्थव्यवस्था को लेकर मनमोहन सिंह ने निर्मला सीतारमण पर किया पलटवार, कही ये बड़ी बातें
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने ​दो राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले कहा कि केंद्र और राज्यों में एक पार्टी वाला BJP का मॉडल फेल हो चुका है. उन्होंने PMC बैंक जमाकर्ताओं को राहत देने से लेकर कॉरपोरेट टैक्स और बेरोजगारी तक पर बात की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 4:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) ने हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Legislative Election) से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर जोरदार हमला बोला है. गुरुवार को मनमोहन सिंह ने कहा कि केंद्र और राज्यों में एक ही पार्टी की सरकार वाला बीजेपी का विकास मॉडल फेल हो चुका है. केंद्र में पहली बार पूर्ण बहुमत आने के बाद और अधिकतर राज्यों में सरकार बनाने के बाद बीजेपी इस मॉडल की बहुत चर्चा करती रही है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र (Maharashtra) आर्थिक सुस्ती से सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है. इस राज्य की मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ रेट (Manufacturing Growth Rate) बीते चार साल से लगातार गिर रही है.

पीएमसी जमाकर्ताओं के लिए तत्काल कदम उठाया जाए
पूर्व प्रधानमंत्री ने PMC बैंक को लेकर सरकार से मांग की है कि इसके 16 लाख जमाकर्ताओं (PMC Bank Depositors) को राहत देने के लिए सरकार तत्काल रूप से कदम उठाए. मुंबई में पीएमसी बैंक के खाताधारकों से खास मुलाकात के बाद उन्होंने कहा, 'पीएमसी में जो कुछ भी हो रहा वो दुर्भाग्यपूर्ण है.' इस दौरान उन्होंने कहा कि मेरा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री और रिजर्व बैंक के गवर्नर से आग्रह है कि इस मामले को तत्काल देखें और साथ मिलकर कोई व्यवहारिक समाधान निकालें ताकि इन 16 लाख जमाकर्ताओं को राहत मिल सके.


Loading...

उन्होंने कहा कि यह मामला सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) के पास है कि इसलिए मैं ज्यादा नहीं कहूंगा, लेकिन मूझे भरोसा है कि रिजर्व बैंक इसके लिए समाधान निकालने की कोशिश करेगा और उम्मीद है कि सरकार कोई ऐसा कदम उठाएगी, जिससे बैंक के जमाकर्ताओं को राहत मिल सके. उन्होंने कहा कि ऐसे जमाकर्ता जिन्हें किडनी ट्रांसप्लांट जैसे बेहद जरूरी काम के लिए पैसा ​चाहिए, उन्हें प्रधानमंत्री राहत कोष से मदद ​देनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: EXCLUSIVE: अमित शाह बोले- 2024 से पहले लागू करेंगे NRC, सभी मुसलमान घुसपैठिए नहीं
 पिछली सरकार की कमजोरियों से सीखे सरकार
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharman) के बयान का जवाब देते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि कांग्रेस के दौर में जो हुआ, वह कमजोरियां थीं, बीजेपी सरकार को इन कमजोरियों से सबक लेकर इकोनॉमी की समस्याओं से निपटना चाहिए. सरकार के तौर पर आप हर साल यह कहकर नहीं निकल सकते कि यह यूपीए सरकार की देन है. आप कोई समाधान नहीं निकाल रहे.


मौजूदा ग्रोथ रेट के हिसाब 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी असंभव
सरकार के 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी (5 Trillion Dollar Economy) के लक्ष्य को लेकर उन्होंने कहा, 'मैं पहले भी कह चुका हूं कि 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी के लिए हर साल 10 से 12 फीसदी की ग्रोथ चाहिए, लेकिन अब तो हर साल इकोनॉमी ग्रोथ रेट कम हो रही है, आईएमएफ ने भी कहा है कि इस साल सिर्फ 6.1 फीसदी की ही बढ़त होगी.'

ये भी पढ़ें: Exclusive: अमित शाह का बड़ा बयान, मॉब लिंचिंग गरीब के साथ होती है, किसी खास जाति के खिलाफ नहीं

बेरोगारी से निपटने के लिए लेबर इंसेटिव इंडस्ट्री को बचाना होगा
इस दौरान कॉरपोरेट टैक्स (Corporate Tax) को लेकर उन्होंने कहा कि इससे कारोबारियों को फायदा हो तो मैं सपोर्ट करता हूं, लेकिन सबसे बड़ी समस्या मांग में कमी है और इसे बेहतर करने के लिए इनकम टैक्स में कटौती करनी चाहिए. बेरोजगारी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि इसका समाधान यही है कि अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़े, लेकिन स्लोडाउन है, इसलिए लेबर इंसेंटिव इंडस्ट्री को बचाना और प्रोत्साहित करना होगा.

ये भी पढ़ें: EXCLUSIVE: दिल्ली सरकार से लोगों का मोहभंग हो गया है- अमित शाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 3:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...