लाइव टीवी

RBI के पूर्व गवर्नर ने यस बैंक संकट के लिए इसे ठहराया जिम्मेदार!

भाषा
Updated: March 23, 2020, 8:18 PM IST
RBI के पूर्व गवर्नर ने यस बैंक संकट के लिए इसे ठहराया जिम्मेदार!
यस बैंक संकट पर पहले उठाए जा सकते थे कुछ कदम

YES Bank Crisis: पूर्व गवर्नर बिमल जालान (Bimal Jalan) ने यस बैंक संकट (YES Bank Crisis) के लिए उसे ही जिम्मेदार ठहराया और कहा कि चूंकि बैंक में समस्याएं दो-तीन साल पहले ही दिखाई देने लगी थीं, इसलिए कुछ कदम पहले उठाए जा सकते थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर बिमल जालान (Bimal Jalan) ने यस बैंक संकट (YES Bank Crisis) के लिए उसे ही जिम्मेदार ठहराया और कहा कि चूंकि बैंक में समस्याएं दो-तीन साल पहले ही दिखाई देने लगी थीं, इसलिए कुछ कदम पहले उठाए जा सकते थे. उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा, मुझे नहीं लगता कि हमें यस बैंक के संकट के लिए आरबीआई या वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) को दोष देना चाहिए. यस बैंक संकट के लिए, यस बैंक जिम्मेदार है.

RBI ने 5 मार्च को यस बैंक के प्रबंधन को बर्खास्त किया
यस बैंक का संकट गहराने के बाद रिजर्व बैंक ने यस बैंक के प्रबंधन को बर्खास्त कर दिया था और इसे पांच मार्च को प्रशासक के तहत ला दिया तथा 30 मार्च तक इसके सामान्य कामकाज पर रोक लगा दी थी. जालान ने कहा, जो एक बात आप कह सकते हैं वह यह कि यस बैंक में समस्याएं दो-तीन साल पहले ही दिखाई दे रही थीं और कुछ कदम पहले उठाए जा सकते थे.

ये भी पढ़ें: रेलवे ने दिया बड़ा तोहफा, फंसे यात्रियों के लिए खत्म किए ये नियम



सरकार ने 14 मार्च को आरबीआई की बचाव योजना को अधिसूचित किया था, जिसके तहत भारतीय स्टेट बैंक (SBI) यस बैंक में लगभग 49 प्रतिशत इक्विटी लेगा. एसबीआई के अलावा निजी क्षेत्र के कई बैंक भी इस बचाव योजना में शामिल हुए.

हट गए सभी प्रतिबंध
बता दें कि आरबीआई ने यस बैंक पर प्रतिबंध लगाते हुए 50 हजार रुपये निकासी की लिमिट तय कर दी थी. लेकिन 13 दिन बाद यानी 18 मार्च को यस बैंक की सभी बैंकिंग सर्विसेज पर लगे प्रतिबंध हटा लिए गए. अब सभी ग्राहक अपने खाते से 50 हजार रुपये से ज्यादा की निकासी कर सकते है. साथ ही, अन्य बैंकिंग सेवाओं का भी भरपूर इस्तेमाल कर सकते है.

ये भी पढ़ें: देश को मिला पहला COVID-19 डेडिकेटेड हॉस्प्टिल, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने की मदद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 8:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर