लाइव टीवी

कभी खाने के नहीं थे पैसे, आज UK के पूर्व PM कर सकते हैं 7170 करोड़ का निवेश

News18Hindi
Updated: November 29, 2019, 5:14 PM IST
कभी खाने के नहीं थे पैसे, आज UK के पूर्व PM कर सकते हैं 7170 करोड़ का निवेश
पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा

कभी इंग्लिश बोलने में हीचकीचाता था ये शख्स, आज उसी की कंपनी में निवेश कर सकते हैं यूके के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन (Former UK PM David Cameron). आपको जानते हैं कि विजय शेखर शर्मा (V S Sharma) ने कैसे शुरू की पेटीएम (Paytm) कंपनी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2019, 5:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. डिजिटल भुगतान कंपनी पेटीएम (Paytm) को 1 बिलियन अमेरिकी डालर (करीब 7,170 करोड़ रुपये) की फंडिंग मिल सकती है. खबरों के मुताबिक UK के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन (PM David Cameron) सहित कई निवेशकों के साथ पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) की बातचीत चल रही है. माना जा रहा है कि इस डील को अंतिम रूप देने में कुछ सप्ताह लग सकते हैं. इसके अलावा जापान के सॉफ्टबैंक (Softbank) और चीनी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा (Alibaba) जैसी दिग्गज कंपनियों ने इसमें निवेश किया है. पेटीएम ने सोमवार को बताया कि उसे SoftBank के Vision Fund और Alibaba के Ant Financial सहित कई दूसरे इन्वेस्टर्स ने कंपनी में इन्वेस्ट किया है. आइए आपको बताते हैं कैसे शुरू की ही शर्मा ने पेटीएम..

ऐसे शुरू हुई Paytm
विजय का मन नौकरी में नहीं लग रहा था, अपने ऑफिस आते- जाते समय उन्हें अक्सर खुले पैसों की समस्या का सामना करना पड़ता था. इसी समय तेजी से स्मार्टफोन का उपयोग भी बढ़ रहा था. विजय ने सोचा क्यों न कुछ ऐसा किया जाए कि फोन के माध्यम से ही छोटे मोटे भुगतान हो सकें और लोगों को खुले पैसों की समस्या से मुक्ति भी मिल जाए.

ये भी पढ़ें: कल तक जरूर निपटा लें बैंक से जुड़े ये काम, वरना फंस जाएंगे आपके पैसे

इसी विचार को ध्यान में रखकर उन्होंने One97 Communications Ltd. के तहत Paytm.com नाम की वेबसाइट खोली और ऑनलाइन मोबाइल रिचार्ज सुविधा शुरू की. साल 2005 में उन्होंने One97 Communications नामक कंपनी शुरू की थी, जो मोबाइल कंटेंट- जैसे न्यूज, क्रिकेट स्कोर्स, रिंगटोंस, जोक्स और परीक्षाओं के रिजल्ट उपलब्ध कराती थी.

आइए जानें कैसे विजय शेखर शर्मा ने 1 लाख करोड़ रुपये की Paytm खड़ी की...
अपनी कमजोरी पर विजय पाकर कैसे सफल हुआ जा सकता है, यह पेटीएम के फाउंडर (Paytm Founder) और CEO विजय शेखर शर्मा से बेहतर शायद ही कोई जानता हो. शर्मा के मुताबिक उनके जीवन में एक दौर ऐसा भी आया था, जब उनके पास खाने के पैसे तक नहीं थे. पेटभर खाने के लिए वह बहाने बनाकर दोस्तों के पास पहुंच जाते थे. इन सब दिक्कतों के बावजूद उन्‍होंने हिम्मत नहीं हारी और दिन-रात मेहनत कर 1 लाख करोड़ रुपये की कंपनी खड़ी कर दी.मोबाइल वॉलेट क्रांति लाने में उनकी बड़ी भूमिका मानी जाती है. उनके बारे में कहा जाता है कि वे कभी हार नहीं मानते है. वे साहस बनाए रखने की प्रेरणा चीन की सबसे बड़ी और दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के फाउंडर जैक मा और दर्जनों भारतीय समेत दुनियाभर के स्टार्टअप्स को जरूरी फंडिंग करने वाले जापान के सॉफ्टबैक के मासायोशि सॉन से लेते हैं.

ये भी पढ़ें: रोजाना 22 रुपये खर्च कर आजीवन हर महीने पा सकते हैं ₹8 हजार, सरकार की है स्कीम

मिडिल क्लास फैमिली से अरबपति तक का सफर
विजय शेखर शर्मा की सफलता की कहानी बेहद दिलचस्प है. उत्तर प्रदेश के छोटे से शहर अलीगढ़ की एक लोअर मिडिल क्लास फैमिली से निकलकर उन्‍होंने 18  हजार करोड़ रुपए का व्यक्तिगत एसेट क्रिएट किया है.

हिंदी माध्यम से की पढ़ाई
उनकी शिक्षा सरकारी हिंदी माध्यम के स्कूलों में हुई. दिल्ली के इंजीनियरिंग कॉलेज में अंग्रेजी नहीं बोल पाने की वजह से उन्हें कई बार बड़ी परेशानी हुई, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी. डिक्शनरी से हिंदी को अंग्रेजी में ट्रांसलेट करके पढ़ते चले गए. आखिरकार इंग्लिश किताबों और दोस्तों की मदद से विजय ने समय रहते फर्राटा अंग्रेजी बोलना भी सीख लिया.

15 साल की उम्र में ही बनाई हिट वेबसाइट
महज 15 साल की उम्र में कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही indiasite.net नामक वेबसाइट बना ली थी. किस्मत ने भी उनका साथ दिया और वेबसाइट बनने के महज दो साल बाद ही उन्हें इसके लिए एक मिलियन यानी दस लाख डॉलर की रकम मिल गई.

ये भी पढ़ें: सिर्फ 518 रुपये महीने खर्च कर लें LIC की ये खास पॉलिसी, मिलेगा 4 लाख बोनस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 4:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर