फोर्टिस के फाउंडर मलविंदर और शिविंदर के बीच हुई मारपीट

मलविंदर सिंह ने आरोप लगाया है कि उनके छोटे भाई शिविंदर सिंह ने उनके साथ मारपीट की.

News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 2:10 PM IST
News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 2:10 PM IST
फोर्टिस के फाउडंर मलविंदर और शिविंदर के बीच झगड़ा हुआ है. मलविंदर ने अपने छोटे भाई शिविंदर पर आरोप लगाया कि उसने मारा है. एक वीडियो में मलविंदर सिंह ने अपनी चोट दिखाई. हालांकि शिविंदर ने इन आरोपों को झूठा बताया है और कहा कि शिविंदर ने एक पक्षी को भी हाथ नहीं लगाया. (ये भी पढ़ें, मोदी से पूछकर ही होगा कच्चे तेल पर फैसला, सऊदी अरब के तेल मंत्री का बयान)

मलविंदर एक वीडियो में कह रहे हैं कि शिविंदर ने मुझ पर हमला किया. उसने मुझे मारा. उसने शर्ट का बटन तोड़ दिया. वो मुझे लगातार धमकी दे रहा है. वो जब तक नहीं हिला जब तक यहां टीम ने आकर छुड़ा नहीं दिया.

ये भी पढ़ें, LIC की बेस्ट पॉलिसी! रोजाना सिर्फ 9 रुपये खर्च कर मिलेंगे 4.56 लाख रुपये

मीटिंग के दौरान हंगामा- मलविंदर का कहना है कि ढिल्लन ग्रुप से पैसे की रिकवरी के लिए कंपनी की बोर्ड मीटिंग बुलाई गई थी. लेकिन, शिवंदर ने ऑफिस पहुंचकर मीटिंग में बाधा पहुंचाई, जबकि वो प्रियस के बोर्ड मेंबर भी नहीं हैं. मलविंदर का कहना है कि सूचना मिलने पर वे ऑफिस पहुंचे जहां शिविंदर ने उन पर हमला कर दिया.

ये भी पढ़ें, मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, 40% बढ़ाया पेंशन स्कीम में योगदान, ऐसे मिलेगा आपको फायदा

मलविंदर ने वापस ली थी याचिका- सितंबर महीने में शिविंदर ने एनसीएलटी में शिविंदर के खिलाफ दायर याचिका वापस ले ली थी, लेकिन तब स्पष्ट कर दिया था कि अगर दायची को पेमेंट समेत अन्य अटके पड़े मुद्दों को सुलझाया नहीं गया तो फिर से मुकदमा किए जाने का विकल्प खुला रहेगा. गौरतलब है कि शिविंदर ने एनसीएलटी में अपने भाई मलविंदर और आरएचसी होल्डिंग के पूर्व सीएफओ सुनील गोधवानी के खिलाफ शिकायत की थी कि वे दोनों कंपनी को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों में शामिल हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->