Home /News /business /

एफपीआई ने अक्टूबर में अब तक पूंजी बाजारों से 1,472 करोड़ रुपये निकाले

एफपीआई ने अक्टूबर में अब तक पूंजी बाजारों से 1,472 करोड़ रुपये निकाले

 एफपीआई ने सितंबर में भारतीय बाजारों में 26,517 करोड़ रुपये का निवेश किया था.

एफपीआई ने सितंबर में भारतीय बाजारों में 26,517 करोड़ रुपये का निवेश किया था.

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, चालू महीने में विदेशी निवेशकों ने अब तक भारतीय पूंजी बाजारों से शुद्ध रूप से 1,472 करोड़ रुपये की निकासी की है.

    नई दिल्ली . विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) अक्टूबर में अबतक भारतीय पूंजी बाजारों में शुद्ध बिकवाल बने हुए हैं. इससे पिछले दो माह के दौरान एफपीआई ने भारतीय बाजारों में निवेश किया था. विशेषज्ञों का कहना है कि रुपये में गिरावट तथा वैश्विक कारकों की वजह से एफपीआई बिकवाली कर रहे हैं.

    डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, चालू महीने में विदेशी निवेशकों ने अब तक भारतीय पूंजी बाजारों से शुद्ध रूप से 1,472 करोड़ रुपये की निकासी की है.

    एफपीआई का रुख बदला 
    ऋण या बांड बाजार को लेकर एफपीआई के रुख पूरी तरह पलट गया है. इससे पहले सितंबर में एफपीआई ने बांड बाजार में 13,363 करोड़ रुपये और अगस्त में 14,376.2 करोड़ रुपये का निवेश किया था. अक्टूबर में वे बांड बाजार से 1,698 करोड़ रुपये की निकासी कर चुके हैं.

    जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, ‘‘एफपीआई के रुख में यह बदलाव अक्टूबर में रुपये में आई गिरावट की वजह से है.’’ हालांकि, एफपीआई ने शेयरों में शुद्ध रूप से 226 करोड़ रुपये का निवेश किया है.

    आईटी में खरीदारी बढ़ने का अनुमान 
    विजयकुमार ने कहा, ‘सितंबर के पहले पखवाड़े में एफपीआई बैंकिंग शेयरों में शुद्ध बिकवाल रहे थे. लेकिन दूसरे पखवाड़े में उन्होंने लिवाली की. सितंबर में पूरे महीने उन्होंने सॉफ्टवेयर सेवा कंपनियों में बिकवाली की. सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों….विप्रो, इन्फोसिस और माइंडट्री के अच्छे प्रदर्शन की वजह से आगे चलकर एफपीआई का इस क्षेत्र में प्रवाह बढ़ने की उम्मीद है.’’

    मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक प्रबंधक शोध हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि बाजार इस समय अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर है. इससे मूल्यांकन भी बढ़ गया है. ऐसे में संभवत: एफपीआई अभी ‘देखो और इंतजार करो’ की नीति अपना रहे हैं.

    रिकॉर्ड ऊंचाई पर बाजार
    तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 568.90 अंक यानी 0.94 प्रतिशत चढ़कर पहली बार 61,305.95 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, एनएसई निफ्टी 176.80 अंक यानी 0.97 प्रतिशत की तेजी के साथ नये रिकार्ड स्तर 18,338.55 अंक पर बंद हुआ. गुरुवार को मार्केट रिकॉर्ड स्तरों पर क्लोज हुआ. शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार बंद थे.

    बाजार के रिकॉर्ड स्तर पर जाने के बाद भी ज्यादातर विशेषज्ञ मार्केट को लेकर बुलिश हैं. उनका मानना है कि साइडवेज करेक्शन आ सकता है लेकिन बड़ी गिरावट की आशंका हाल-फिलहाल कम है. रिटेल निवेशक बाजार के लिए नए बूस्टर डोज जैसा काम कर रहे हैं. वे बाजार को नई तेजी दे रहे हैं.

    Tags: BSE Sensex, FPI, NSE, Share market, Stock market, Stock return, Stock tips

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर