Home /News /business /

निवेशकों का भरोसा घटा, FPI ने अक्टूबर में अब तक भारतीय बाजारों से निकाले 3,825 करोड़ रुपये

निवेशकों का भरोसा घटा, FPI ने अक्टूबर में अब तक भारतीय बाजारों से निकाले 3,825 करोड़ रुपये

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

डिपॉजिटरी के आंकड़े के मुताबिक, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPIs) ने अक्टूबर में भारतीय बाजारों से 3,825 करोड़ रुपये की निकासी की है.

    नई दिल्ली. विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों यानी एफपीआई (​Foreign Portfolio Investors) ने अक्टूबर में अब तक भारतीय बाजारों में शुद्ध बिकवाल बने हुए हैं. उन्होंने अक्टूबर में भारतीय बाजारों से 3,825 करोड़ रुपये की निकासी की है.

    इससे पिछले दो माह में एफपीआई ने ऋण या बांड बाजार में जबर्दस्त निवेश किया था. उन्होंने सितंबर में बांड बाजार में 13,363 करोड़ रुपये और अगस्त में 14,376.2 करोड़ रुपये डाले थे.

    डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, अक्टूबर में एफपीआई ने अभी तक बांड बाजार से 1,494 करोड़ रुपये निकाले हैं। इसी तरह उन्होंने शेयरों से 2,331 करोड़ रुपये की निकासी की है. इस तरह एक से 22 अक्टूबर के दौरान उन्होंने भारतीय बाजारों से शुद्ध रूप से 3,825 करोड़ रुपये निकाले हैं.

    ये भी पढ़ें- भारतीय यूजर्स बिना कुछ पैसे लगाए कर सकेंगे Cryptocurrency से कमाई, नुकसान होने पर 5,000 रु भी मिलेंगे

    एफपीआई ने सॉफ्टवेयर कंपनियों के 5,406 करोड़ रुपये के शेयर बेचे
    जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, ”अक्टूबर के पहले पखवाड़े में एफपीआई ने सॉफ्टवेयर कंपनियों के 5,406 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं. हालांकि, सॉफ्टवेयर कंपनियों के दूसरी तिमाही के नतीजे अच्छे रहे हैं. ऐसे में यह निश्चित रूप से मुनाफावसूली का मामला है। वित्तीय सेवा कंपनियों में एफपीआई ने लिवाली की है.”

    ये भी पढ़ें- आपके PF के पैसे पर आ सकता है संकट अगर शेयर किया इनमें से कोई नंबर, EPFO ने जारी की ये सूचना

    वेट एंड वॉच की पॉलिसी अपना रहे हैं एफपीआई
    मार्निंगस्‍टार इंडिया के एसोसिएट डायरेक्‍टर (मैनेजर रिसर्च) हिमांशु श्रीवास्‍तव ने कहा, ”एफपीआई बाजार में किनारे पर खड़े हैं तथा वे ‘देखो और इंतजार करो’ की नीति अपना रहे हैं. इस दौरान वे मुनाफा काट रहे हैं.”

    Tags: Business news in hindi, FPI, Share market

    अगली ख़बर