1 जुलाई से बदल जाएंगे आपके बैंक खाते से जुड़े ये 3 नियम, नहीं जानने पर होगा भारी नुकसान

1 जुलाई से बदल जाएंगे आपके बैंक खाते से जुड़े ये 3 नियम, नहीं जानने पर होगा भारी नुकसान
1 जुलाई से बदल जाएंगी आपके खाते से जुड़ी ये चीज़े, नहीं जानने पर होगा नुकसान

1 जुलाई से कई बैंकिंग रूल्स बदलने वाले हैं. जिनके बारे में जानना आपके लिए बहुत जरूरी है की क्या-क्या चीजें बदल रही है क्योंकि एक छोटी सी गलती अपको भारी पड़ सकती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. 1 जुलाई से कई बैंकिंग रूल्स बदलने वाले हैं. जिनके बारे में जानना आपके लिए बहुत जरूरी है. 1 जुलाई से एटीएम से कैश निकालने का नियम बदलने जा रहे हैं. तो वहीं Loan Moretorium, बचत खाते में Minimum Balance की सीमा हटाने जैसे चीजें शामिल हैं. अब 30 जून के बाद से बैंक ये सभी रूल्स बदलने वाले हैं. ऐसे में यह जान लेना आपके लिए जरूरी है की क्या-क्या चीजें बदल रही है क्योंकि एक छोटी सी गलती अपको भारी पड़ सकती है.

PNB घटा रहा है सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज
पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने बचत खाते (सेविंग अकाउंट) पर मिलने वाली ब्याज दर में 0.50 फीसदी की कटौती की है. 1 जुलाई से बैंक के बचत खाते पर अधिकतम 3.25 फीसदी का सालाना ब्याज मिलेगा. पीएनबी के बचत खाते में 50 लाख रुपए तक के बैलेंस पर 3 फीसदी सालाना और 50 लाख से ज्यादा के बैलेंस पर 3.25 फीसदी सालाना की ब्याज दर के हिसाब से ब्याज मिलेगा. इससे पहले देश का सबसे बड़े बैंक एसबीआई और कोटक महिंद्रा बैंक ने भी बचत कहते पर मिलने वाले ब्याज में कटौती की थी.


ये भी पढ़ें:- कभी उधार के पैसों से रखी थी बाबा रामदेव ने पतंजलि की नींव, अब दे रही हैं बड़ी कंपनियों को टक्कर



1 जुलाई से बदल जाएगा ATM से कैश निकालने का नियम
लॉकडाउन और कोरोना के कारण 1 जुलाई से एटीएम से कैश निकालने के नियम में बदला होने जा रहे हैं, जो आपकी जेब पर बोझ बढ़ाएंगे. एटीएम कैश विड्रॉल 1 जुलाई से आपके लिए महंगा होने जा रहे हैं. वित्त मंत्रालय ने एटीएम से कैश विड्रॉल करने के लिए सभी ट्रांजैक्शन चार्जेस हटा लिए थे. सरकार ने तीन महीनों के लिए एटीएम ट्रांजैक्शन फीस हाटकर लोगों को कोरोना संकट के बीच बड़ी राहत दी थी. ये छूट सिर्फ तीन महीनों के लिए दी गई थी, जो कि 30 जून 2020 को खत्म होने वाली है.

ये भी पढ़ें:- जल्द ATM से सिर्फ 5000 रुपए निकालने की सीमा हो सकती है तय, जानिए क्या है ये प्लान?

औसत न्यूनतम बैलेंस रखने की मियाद खत्म
कोरोना काल में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया था कि किसी भी बैंक में बचत खाते Saving Account में औसत न्यूनतम बैलेंस (Average Minimum Balance) की अनिवार्यता नहीं होगी. यह आदेश अप्रेल से जून महीने तक के लिए था. ऐसे में खाते में मिनिमम बैलेंस ना होने पर भी लोगों को किसी तरह का जुर्माना नहीं चुकाना था. लेकिन अब 30 जून को इस फैसले की मियाद खत्म होने वाली है और इसका सीधा असर आप पर होने वाला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading