भारत को मिली बड़ी सफलता! अमेरिका नहीं करेगा ईरान से कच्चा तेल खरीदने का विरोध

भारत को मिली बड़ी सफलता! अमेरिका नहीं करेगा ईरान से कच्चा तेल खरीदने का विरोध
प्रतीकात्मक फोटो

सूत्रों ने कहा कि अभी तक इस अंतिम फैसला नहीं हुआ है और पांच नवंबर को लागू होने वाले प्रतिबंध से ठीक कुछ समय पहले समझौते की घोषणा हो सकती है

  • Share this:
भारत बिना किसी प्रतिबंध के ईरान से कच्चे तेल खरीदना जारी रखने के लिये अमेरिका के साथ एक समझौता करेगा. दोनों देश समझौते के करीब हैं. मामले से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी. भारत के कच्चे तेल के आयात में कमी करने और एस्क्रो भुगतान पर सहमत होने के बाद यह फैसला लिया गया है.

ईरान से कच्चे तेल खरीदने पर अमेरिका ने भारत,चीन समेत अन्य देशों को प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी थी. यह प्रतिबंध सोमवार से लागू हो रहा है. प्रतिबंध के चलते इन देशों को ईरान से आयात में कटौती करने पर मजबूर होना पड़ रहा है. भारत, चीन के बाद ईरान के तेल दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है.

सूत्रों ने कहा कि भारत ईरान से अपने कच्चे तेल खरीद को 2017-18 में 2.26 करोड़ टन सालाना (452,000 बैरल प्रति दिन) से 1.5 करोड़ टन प्रति वर्ष (3,00,000 बैरल प्रति दिन) तक सीमित करने के लिये तैयार है.



सूत्रों ने कहा कि अमेरिका ने भारत के इस कदम पर खुशी जताई है. वह भारत को कच्चा तेल खरीदने के लिए छूट दे सकता है. हालांकि इसका भुगतान एस्क्रो खाते में किया जायेगा, जिसका इस्तेमाल ईरान, भारत से खरीदारी करने में कर सकता है.
सूत्रों ने कहा कि अभी तक इस अंतिम फैसला नहीं हुआ है और पांच नवंबर को लागू होने वाले प्रतिबंध से ठीक कुछ समय पहले समझौते की घोषणा हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज