इन 7 जरूरी सेवाओं के लिए SBI, HDFC बैंक समेत ये टाॅप बैंक वसूलता है इतने रुपये, चेक करें डिटेल

आपके पास भी सेविंग अकाउंट होंगे, लेकिन ये अकाउंट फ्री में नहीं होता है.

आपके पास भी सेविंग अकाउंट होंगे, लेकिन ये अकाउंट फ्री में नहीं होता है.

हम सबके पास किसी न किसी बैंक का सेविंग्स अकाउंट (Savings Account) जरूर होता है. आपके पास भी सेविंग अकाउंट होंगे, लेकिन ये अकाउंट फ्री में नहीं होता है. इस अकाउंट पर कुछ शुल्क हैं जो बैंक विभिन्न सेवाओं पर लगाता है.

  • Share this:

नई दिल्ली. हम सबके पास किसी न किसी बैंक का सेविंग्स अकाउंट (Savings Account) जरूर होता है. आपके पास भी सेविंग अकाउंट होंगे, लेकिन ये अकाउंट फ्री में नहीं होता है. इस अकाउंट पर कुछ शुल्क हैं जो बैंक विभिन्न सेवाओं पर लगाता है. अगर आपके पास बचत खाता है तो आइए जानते हैं स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank), एक्सिस बैंक (Axis Bank) समेत अन्य टाॅप बैंक कितना चार्ज करती है.

कैश ट्रांसजेक्शन (Cash transactions)

बैंक बचत खाते में नकद लेनदेन की संख्या को प्रति माह तीन से पांच तक सीमित करते हैं. यानी एक महीने में आप ज्यादा से ज्यादा पांच बार लेनदेन कर सकते हैं इससे अधिक होने पर आपको अतिरिक्त शुल्क देना होगा. अब एक्सिस बैंक ने 1 मई से हर महीने फ्री लिमिट के बाद कैश विड्रॉल पर चार्ज बढ़ा दिया है. ऐसे में आप हर महीने 4 एटीएम ट्रांजैक्‍शन या 2 लाख रुपए तक ट्रांजैक्‍शन फ्री में कर सकते हैं, लेकिन इसके बाद अतिरिक्‍त ट्रांजैक्‍शन पर चार्ज देना होगा. प्रति 1000 रुपए पर अब 5 की जगह 10 रुपए कटेंगे.

ये भी पढ़ें- PF खाते में जरूर दर्ज करें ये अपडेट, वरना अटक जाएगा आपका पैसा, यहां देखें क्या है प्रोसेस?
ATM विड्राल चार्ज

आम तौर पर बैंक अपने स्वयं के एटीएम में एक महीने में अधिकतम पांच लेन-देन की अनुमति देते हैं और अन्य बैंकों के एटीएम में तीन लेन-देन निःशुल्क करते हैं. यदि आप इन सीमाओं को पार कर जाते हैं, तो आपको प्रति निकासी लगभग ₹20 से ₹50 का भुगतान करना पड़ सकता है. शुल्क बैंकों से बैंकों में भिन्न होते हैं.

ATM ट्रांसजेक्शन फेल होने पर



भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने यह भी कहा है कि बैंक ATM transaction के लिए ग्राहकों से शुल्क नहीं ले सकते हैं. अगर अपर्याप्त शेष राशि के चलते ट्रांसजेक्शन फेल होता है तो इसके लिए बैंक शुल्क लेते हैं. SBI इसके लिए ₹20 प्लस जीएसटी का शुल्क लेता है. एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा, यस बैंक प्रति लेनदेन ₹25 चार्ज करते हैं.

अकाउंट में मिनिमम बैलेंस जरूरी

प्रत्येक बचत बैंक खाते में आपको एक निश्चित शेष राशि बनाए रखने की आवश्यकता होती है. यदि आपकी शेष राशि इस सीमा से कम हो जाती है, तो आपका बैंक आपसे शुल्क लेता है. उदाहरण के लिए, अगर आपका खाता ICICI Bank में है, तो यह मेट्रो और शहरी शाखाओं में ₹10,000 का न्यूनतम शेष (MB) और अर्ध-शहरी और ग्रामीण शाखाओं के बचत खातों में ₹5,000 का अनिवार्य है. यदि औसत न्यूनतम शेषराशि नहीं रखी जाती है, तो बैंक ₹100 + 5% का जुर्माना लगाता है.

ये भी पढ़ें- PM जनधन योजना के तहत खुलवाएं खाता! मुफ्त में मिलते हैं 1 लाख रुपये, जानिए कैसे?

डेबिट कार्ड चार्ज (Debit card charges)

अगर आपका डेबिट कार्ड खो जाता है, तो बैंक इसे बदलने के लिए आपसे ₹50-500 का शुल्क लेगा. यदि आप अपना एटीएम पिन भूल जाते हैं, तो हर बार इसे रीसेट करने पर आपसे शुल्क भी लिया जा सकता है. बैंक डेबिट कार्ड बदलने के लिए आपसे ₹50 से लेकर 500 रुपये तक का शुल्क लेता है.

चेक बाउंस

चेक बाउंस होने पर आपको ₹100-150 का शुल्क भी देना होगा. विभिन्न बैंकों के अलग-अलग चार्ज होते हैं.

SMS चार्ज

आपके खातों से होने वाले लेन-देन के बारे में आपको अपडेट रखने के लिए बैंक आपको SMS अलर्ट भेजता है. बैंक इस एसएमएस अलर्ट के लिए शुल्क लेते हैं. एक्सिस बैंक अभी SMS चार्ज के लिए 5 रुपए प्रति महीना लेता है. 30 जून तक उन्हें हर तीन महीने के लिए 15 रुपए ही ​देने होंगे, लेकिन 01 जुलाई से प्रति SMS 25 पैसे लगेंगे, लेकिन एक महीने में 25 रुपए से ज्यादा नहीं वसूला जाएगा. प्रीमियम अकाउंट्स, सैलरी अकाउंट्स और बेसिक अकाउंट्स के लिए ये चार्जेज अलग-अलग होंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज