इन 10 तरह के कारोबार से जुड़े लाखों कारोबारियों को सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिया बड़ा झटका

इन 10 तरह के कारोबार से जुड़े लाखों कारोबारियों को होगा भारी नुकसान
इन 10 तरह के कारोबार से जुड़े लाखों कारोबारियों को होगा भारी नुकसान

दिल्ली सरकार ने कारोबारियों को एक बड़ा झटका दिया है. शादी-ब्याह में मेहमानों की संख्या बढ़ाने के बाद एक फिर से उसे कम कर दिया है. इससे उम्मीद थी कि इसका कारोबारियों को पूरा फायदा मिलेगा. लेकिन आज यह संख्या फिर से 50 कर दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 2:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में 10 अलग-अलग तरह के ऐसे कारोबारी थे, जिन्हें दिवाली (Diwali) के बाद शादी-ब्याह के सहलग में अच्छे कारोबार की उम्मीद थी. मैरिज होम, होटल-रेस्टोरेंट, कैटरिंग और किराना कारोबारी हों या ड्राइ फ्रूट कारोबारी सभी को देवउत्थान के सहलग में कोरोना (Corona)-लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान हुए घाटे को पूरा करने का एक मौका था. लेकिन ऐन वक्त पहले दिल्ली सरकार ने कारोबारियों को एक बड़ा झटका दिया है. शादी-ब्याह में मेहमानों की संख्या बढ़ाने के बाद एक फिर से उसे कम कर दिया है. दिवाली से पहले यह संख्या 50 से बढ़ाकर बंद हाल में 200 और खुले एरिया में अनलिमिटेड कर दी थी. इससे उम्मीद थी कि इसका कारोबारियों को पूरा फायदा मिलेगा. लेकिन आज यह संख्या फिर से 50 कर दी गई है.

इन 10 तरह के कारोबार से जुड़े लाखों कारोबारियों को होगा भारी नुकसान -शादी समारोह में मेहमानों की संख्या में छूट मिलने के बाद से शादी वाले घर के साथ ही कारोबारियों में भी खुशी छा गई थी. उन्हें उम्मीद जागी थी कि अब बहुत ज़्यादा नहीं तो थोड़ा बहुत कारोबार तो पटरी पर आ ही जाएगा. ध्यान रहे कि दीवाली के बाद शादियों का एक बड़ा सहलग देवोत्थान शुरु हो जाता है. खासतौर से कपड़ा बाज़ार, फूल बाज़ार, इवेंट कंपनियां, आतिशबाजी वाले, मैरिज होम, होटल-रेस्टोरेंट, कैटरिंग, बैंडबाजा पार्टी, किराना और ड्राइ फ्रूट बाज़ार को दिल्ली सरकार के इस फैसले से बड़ी उम्मीद जागी थी.
आतिशबाजी कारोबार पर पड़ी डबल मार-आतिशबाजी कारोबार पर तो डबल मार पड़ती दिख रही है. दिवाली और दूसरे खास मौकों के लिए तो आतिशबाजी को दिल्ली सरकार समेत नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल भी बैन कर चुका है. आतिशबाजी पर यह बैन दिल्ली ही नहीं यूपी, राजस्थान, ओडिशा समेत देश के कई शहरों में आतिशबाजी बैन की जा चुकी है.

हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को लगाई थी फटकार-कुछ दिन पहले दिल्ली हाईकोर्ट में बढ़ते हुए कोरोना केस को लेकर एक याचिका पर सुनवाई हो रही थी. इसी सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने सरकार को फटकार लगाते हुए कहा है था, “जब दिल्ली में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं तो आप पब्लिक प्लेस पर भीड़ की इजाज़त कैसे दे सकते हैं.” अब जब दिल्ली सरकार ने ऐहतियाती कदम उठाए हैं तो इसे हाईकोर्ट के रिएक्शन से जोड़कर देखा जा रहा है.



इन नियमों का पालन करने पर सरकार दे रही थी छूट 

शादी समारोह में शामिल होने वाले हर एक मेहमान को मास्क पहनना होगा.

सभी मेहमानों के बीच तय दूरी का होना ज़रूरी होगा.

समारोह में आने वाले हर एक मेहमान की थर्मल स्कैनिंग करना ज़रूरी होगा.

शादी समारोह वाली जगह पर हैंड सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी.

गाइड लाइन के मुताबिक यह सभी इंतज़ाम अनिवार्य रूप से करने होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज