कोरोना ठीक करने को लेकर दावा करना पड़ेगा भारी, FSSAI ने जारी की चेतावनी

गलत दावों पर FSSAI की चेतावनी

एफएसएसएआई (FSSAI) ने तमाम राज्यों के फूड कमीशनर को चिट्ठी लिखी है और कहा है कि वो इस तरह के फूड आइटम्स पर नजर रखें और जरूरत पड़े उनका लाइसेंस भी रद्द करें.

  • Share this:
    नई दिल्ली. बाजार में कई फूड प्रोडक्ट्स आ चुके हैं जो आपको कोरोना वायरस (CoronaVirus) से मुक्ति दिलाने का दावा करते हैं. फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने इस तरह के प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनियों पर सख्त हो गई है. एफएसएसएआई (FSSAI) ने तमाम राज्यों के फूड कमीशनर को चिट्ठी लिखी है और कहा है कि वो इस तरह के फूड आइटम्स पर नजर रखें और जरूरत पड़े उनका लाइसेंस भी रद्द करें.

    FSSAI ने फूड कमीशनर को लिखी चिट्ठी में कहा है कि वो ऐसी कंपनियां जो किसी तरह का फेक क्लेम करती है जिसका वैज्ञानिक तौर पर कोई आधार ही नहीं है तो इस पर वो जरूर कार्रवाई करें. किसी भी तरह के विज्ञापन और क्लेम के जो नियम हैं उसका उल्लंघन ना हो.

    यह भी पढ़ें- रेलवे कटरा में बना रही केबल पर टिका देश का पहला रेल ब्रिज, देखें VIDEO

    इसके अलावा जो इम्यूनिटी बूस्टर प्रोडक्ट हैं, उसको लेकर भी बात कही गई है. उसमें कहा गया है कि कोई इम्यूनिटी बूस्टर प्रोडक्ट ये सीधा दावा नहीं कर सकता जो कि वैज्ञानिक रूप से वो साबित नहीं कर सकता है. हर इम्यूनिटी बूस्टर प्रोडक्ट पर RDA यानी डेली की खुराकर लिखना अनिवार्य है ताकि लोग इम्यूनिटी बूस्टर प्रोडक्ट के नाम पर जरूरत से ज्यादा इम्यूनिटी बूस्टर प्रोडक्ट ना खा लें जो फायदे के बजाए उनको नुकसान हो जाए.

    बता दें कि कमजोर इम्युनिटी वाले लोग कोरोना की चपेट में सबसे ज्यादा आसानी से आ रहे हैं. उन्हें जान का भी खतरा है. ऐसे में शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए विशेष ध्यान रखने की जरूरत है. इसी के चलते बाजार में इम्यूनिटी बढ़ाने वाले कई प्रोडक्ट आ गए हैं जो कोरोना से लड़ने में खुद को ज्यादा कारगर होने का दावा कर रहे हैं. (रोहन सिंह, संवाददाता- CNBC आवाज़)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.