FSSAI का आदेश, फूड बिजनेस ऑपरेटर्स के लिए 1 अक्टूबर से जरूरी होगा बिल पर लाइसेंस नंबर लिखना

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण

एफएसएसएआई नंबर का उपयोग करके उपभोक्ता किसी विशेष फूड बिजनेस के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. फूड सेफ्टी रेगुलेटर एफएसएसएआई (FSSAI) ने फूड बिजनेस ऑपरेटर्स के लिए इस साल एक अक्टूबर से नकद रसीदों या खरीद चालान पर एफएसएसएआई लाइसेंस या पंजीकरण संख्या का उल्लेख करना अनिवार्य किया है. भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण यानी एफएसएसएआई (Food Safety and Standards Authority of India) ने इस संबंध में एक ताजा आदेश जारी किया है.

चूंकि विशिष्ट जानकारी की कमी के कारण शिकायतें अनसुलझी रहती हैं, इस कदम से उन उपभोक्ताओं को मदद मिलेगी, जो एफएसएसएआई नंबर का उपयोग करके किसी विशेष फूड बिजनेस के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Jio यूजर्स अब WhatsApp से कर सकेंगे फोन रीचार्ज, कोविड वैक्‍सीन की उपलब्‍धता की भी मिलेगी जानकारी, जानें कैसे

एफएसएसएआई के आदेश में कहा गया है, ''लाइसेंसिंग और पंजीकरण अधिकारियों को नीति का व्यापक प्रचार करने और दो अक्टूबर, 2021 से इसका कार्यान्वयन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है.''
एफएसएसएआई नंबर का उल्लेख करने से जागरूकता में सुधार

नियामक ने कहा कि एफएसएसएआई नंबर का उल्लेख करने से समग्र जागरूकता में भी सुधार होगा. उसने कहा कि यदि असका उल्लेख नहीं किया गया है, तो यह खाद्य व्यवसाय द्वारा गैर-अनुपालन या पंजीकरण/लाइसेंस नहीं होने का संकेत देगा.

ये भी पढ़ें- SBI में FD कराने वाले ग्राहकों के लिए जरूरी खबर, समय से पहले पैसा निकालने पर देना होगा चार्ज, जानें क्यों



वर्तमान में, एफएसएसएआई नंबर को पैकेज्ड फूड लेबल पर प्रदर्शित करना अनिवार्य है, लेकिन यह समस्या विशेष रूप से रेस्टोरेंट, मिठाई की दुकानों, कैटरर्स, यहां तक ​​​​कि खुदरा स्टोर जैसे प्रतिष्ठानों के मामले में आती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज