वित्त वर्ष 2020-21 में पब्लिक इश्यू के जरिए फंडरेजिंग हुआ दोगुना: वित्त मंत्रालय

वित्त मंत्रालय

वित्त मंत्रालय

वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने एक बयान में कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में 55 इनीशियल पब्लिक ऑफर यानी आईपीओ (IPO) और एक फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर (FPO) आया.

  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने बुधवार को कहा कि कोविड-19 महामारी (COVID-19 Pandemic) के चलते पैदा हुई अनिश्चितता के बावजूद वित्त वर्ष 2020-21 में पब्लिक और राइट इश्यू (Public and Rights Issues) के जरिए जुटाए गए धन में क्रमश: 115 फीसदी और 15 फीसदी की बढ़ोतरी हुई.

वित्त वर्ष 2020-21 में आया 55 इनीशियल पब्लिक ऑफर

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस दौरान 55 इनीशियल पब्लिक ऑफर यानी आईपीओ (IPO) और एक फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर (FPO) आया. बयान के मुताबिक वित्त वर्ष में 21 राइट इश्यू आए, जबकि इससे पिछले साल यह आंकड़ा 17 था.

ये भी पढ़ें- सीनियर सिटीजंस को तोहफा! SBI, ICICI समेत ये बैंक 30 जून तक दे रहे ज्यादा ब्याज, आप भी इस तरह लें फायदा
2020-21 के दौरान पब्लिक इश्यू के जरिए  46,029.71 करोड़ रुपये जुटाए गए

मंत्रालय ने कहा, ''2020-21 के दौरान पब्लिक और राइट इश्यू के जरिए क्रमश: 46,029.71 करोड़ रुपये और 64,058.61 करोड़ रुपये जुटाए गए, जबकि इससे पिछले साल यह आंकड़ा 21,382.35 करोड़ रुपये और 55,669.79 करोड़ रुपये था. यह पिछले साल की तुलना में 2020-21 के दौरान क्रमशः 115 फीसदी और 15 फीसदी की वृद्धि दर्शाता है.''

इसी तरह 2020-21 के दौरान कॉरपोरेट बॉन्ड के 2003 इश्यू आए, जिनकी कुल राशि 7,82,427.39 करोड़ रुपये थी. इन इश्यू की संख्या में 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई, जबकि इनसे जुटाई गई राशि 13.5 फीसदी बढ़ी.



ये भी पढ़ें- कोरोना की दूसरी लहर से बढ़ी महंगाई! सरसों तेल का भाव ₹200 तक पहुंचा, दाल से लेकर डब्बाबंद दूध तक महंगा

म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री में 41 फीसदी की बढ़ोतरी

बयान में कहा गया कि भारतीय पूंजी बाजार ने महामारी के प्रकोप से लगे झटकों को झेलने में अपनी मजबूती दिखाई है. मंत्रालय ने बताया कि म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री के तहत एयूएम (AUM) 31 मार्च, 2021 को इससे पिछले साल के मुकाबले 41 फीसदी बढ़कर 31,43 लाख करोड़ रुपये हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज