ज्वैलरी एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार ने बनाया ये खास प्लान, जानिए आप पर होगा क्या असर?

hindi.moneycontrol.com
Updated: September 6, 2019, 4:59 PM IST
ज्वैलरी एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार ने बनाया ये खास प्लान, जानिए आप पर होगा क्या असर?
जेम्स स्टोन पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने पर विचार

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए पॉलिश्ड डायमंड और कलर्ड जेम्स स्टोन पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने पर विचार कर रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली: घटते एक्सपोर्ट और बढ़ती बेरोजगारी को थामने के लिए अब एक्सपोर्ट सेक्टर पर सरकार का फोकस है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए पॉलिश्ड डायमंड और कलर्ड जेम्स स्टोन पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने पर विचार कर रही है.

जेम्स एंड ज्वैलरी सेक्टर को महंगे स्टोन इंपोर्ट से छुटकारा मुमकिन है. सूत्रों के मुताबिक पॉलिश्ड डायमंड पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाकर 2.5 फीसदी करने और कलर्ड जेम्स स्टोन पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाकर 2.5 फीसदी करने पर विचार किया जा रहा है. बता दें कि दोनों पर इंपोर्ट ड्यूटी 2.5 फीसदी से बढ़ाकर 7.5 फीसदी किया गया था.

ये भी पढ़ें: आधार कार्ड में एड्रेस और किसी बदलाव के लिए UIDAI ने जारी किए नए नियम!

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सिल्वर और प्लैटिनम को भी IGST से छूट देने पर विचार किया जा सकता है. जेम्स एंड ज्वैलरी सेक्टर के कंसाइनमेंट के क्लियरेंस के लिए आसान SOP (Standard Operating Procedure) जारी किया जा सकता है. एसईजेड से फ्री ट्रेड एरिया में सामान लाने पर ड्यूटी में 40 से 50 फीसदी की छूट दी जा सकती है. इसके साथ ही स्पेशल इकोनॉमिक जोन के लिए सनसेट क्लॉज तत्काल बढ़ाने पर विचार किया जा सकता है और SEZ के लिए मिनिमम एरिया लिमिट की समीक्षा की जा सकती है.

सूत्रों के मुताबिक सरकार का स्टील, एग्री, फार्मा एक्सपोर्ट पर फोकस होगा. एक्पसोर्ट को बढ़ावा देने के लिए ईसीजीसी यानी एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन का कवरेज 60 फीसदी से बढ़ाकर 80 से 90 फीसदी किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: बिना किसी डॉक्यूमेंट के भी SBI में खुलवाएं जीरो बैलेंस वाला खाता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 4:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...