लाइव टीवी
Elec-widget

घर बैठे हर महीने फिक्स कमाई का मौका देगी सरकार, FD से भी ज्यादा मिलेगा रिटर्न

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 5:58 PM IST
घर बैठे हर महीने फिक्स कमाई का मौका देगी सरकार, FD से भी ज्यादा मिलेगा रिटर्न
केन्द्र सरकार दिसंबर मध्य तक डेट ईटीएफ ला सकती है.

दिसंबर माह के मध्य तक केन्द्र सरकार डेट ईटीएफ (Debt Exchange Traded Fund) लॉन्च कर सकती है. इसमें निवेशकों को फिक्स इनकम (Fixed Income) का विकल्प मिलेगा. साथ ही सरकारी कंपनियों को पूंजी जुटाने में भी मदद मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 5:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप भी घर बैठे हर महीने फिक्स्ड इनकम (Fixed Income) पाना चाहते हैं तो केन्द्र सरकार (Central Government) आपको एक खास मौका दे सकती है. सरकार अब भारत का पहला फिक्स्ड इनकम एक्सचेंच ट्रेडेड फंड (Exchange Traded Fund) लॉन्च करने वाली है, जिसमें दर्जनों सरकारी कंपनियों की डेट सिक्योरिटीज (Debt Securities) शामिल होंगी. उम्मीद है कि दिसंबर माह के मध्य तक सरकार इसे लॉन्च करेगी. इस ETF की साइज करीब 15 हजार करोड़ रुपये से लेकर 20 हजार करोड़ रुपये तक रह सकती है.

द इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से लिखा है कि इस फंड का रोडमैप तैयार किया जा रहा है और दिसंबर मध्य तक इसे लॉन्च भी कर दिया जाएगा. इस फंड में पीएसयू कंपनियों (PSU Companies) के AAA - रेटेड पेपर्स भी शामिल होंगे.

ये भी पढ़ें: सरकार ने बताया- आखिर क्यों जरूरी है सभी के लिए Aadhaar को PAN कार्ड से लिंक करना


FD की तुलना में अधिक रिटर्न मिलेगा
डेट ईटीएफ (Debt ETF) कम जोखिम लेने वाले निवेशकों के लिए एक नया विकल्प उपलब्ध कराएगा जिसमें वे सरकारी सिक्योरिटीज में निवेश कर सकते हैं. ईटीएफ यूनिट्स एक्सचेंज पर लिस्ट होने के बाद उन्हें रातों-रात लिक्विडिटी की सुविधा मिल सकेगी. बैंकों द्वारा उपलब्ध कराये जाने वाले फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit Rates) की तुलना में इसके माध्यम से 7 फीसदी तक का रिटर्न जेनरेट किया जा सकता है.

कई बड़ी सरकारी कंपनियां होंगी डेट ईटीएफ का हिस्सा
Loading...

डेट ईटीएफ में बॉन्ड के रूप में कॉरपोरेट डेट सिक्योरिटीज (Corporate Debt Securities), क्रेडिट लिंक्ड नोट, डिबेंचर शामिल होता है. इस रिपोर्ट में उम्मीद जताया गया है कि बड़ी सरकारी कंपनियां इस ईटीएफ का हिस्सा होंगी. सूत्रों के हवाले से लिखा गया है कि सरकार इसकी तैयारी में जुटी हुई है और दिसंबर माह के पहले पखवाड़े तक इसे लॉन्च किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: बदल जाएगा आपको नौकरी पर रखने का नियम, जानिए अब कैसे हायर करेंगी कंपनियां
 

सरकारी कंपनियों को भी होगा फायदा
सरकार के इस कदम के बाद अब निवेश करने के लिए एक नया और आसान वि​कल्प खुल जाएगा. कॉरपोरेटे बॉन्ड (Corporate Bonds) के मौजूदगी बढ़ने के साथ ही इस तरह के ईटीएफ की वजह से सरकारी कंपनियों के पास बाजार से ​पूंजी मिल सकेगी. वहीं, फिक्स्ड डिपॉजिट की तुलना में ईटीएफ के जरिए अधिक रिटर्न मिल सकेगा.

क्या होगा टैक्स सिस्टम
सरकार को उम्मीद है कि डेट ईटीएफ से कॉरपोरेट बॉन्ड मार्केट (Corporate Bond Market) में लिक्विडिटी बढ़ेगी और निवेशकों का आधार भी मजबूत हो सकेगा. ​डिपार्टमेन्ट ऑफ इन्वेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट (DIPAM) ने प्रस्तावित डेट ईटीएफ के लिए एडेलवाइज एसेट मैनेजमेंट (Edelweiss Asset Management) को एसेट मैनेजर के तौर पर​ नियुक्त​ किया है. इसके लिए डेट म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) के आधार पर ही टैक्स व्यवस्था लागू होगी.

ये भी पढ़ें: अगले 9 दिन में जरूर लगवा लें अपनी गाड़ी पर ये स्टीकर, नहीं तो देना होगा डबल टोल
देश का पहला डेट ईटीएफ
भारतीय बाजार में कई इक्विटी और गोल्ड ईटीएफ (Equity and Gold ETF) मौजूद हैं, लेकिन अभी तक कोई डेट ईटीएफ नहीं है. हालांकि, सरकारी सिक्योरिटीज भी है, लेकिन इसमें निवेशकों ने कुछ खास रुचि नहीं दिखाई है. इसी साल सरकार ने सीपीएसई ईटीएफ (CPSE ETF) के जरिए 10,000 करोड़ रुपये जुटाया है. जबकि भारत-22 ईटीएफ (Bharat-22 ETF) से भी सरकार की झोली में 4,368 करोड़ रुपये आए हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 5:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...