लाइव टीवी

रेलवे ने पैसेंजर्स को दी बड़ी सुविधा! 60 रुपये में प्लेटफॉर्म पर हो जाएगा बॉडी चेकअप

News18Hindi
Updated: February 10, 2020, 6:30 PM IST
रेलवे ने पैसेंजर्स को दी बड़ी सुविधा! 60 रुपये में प्लेटफॉर्म पर हो जाएगा बॉडी चेकअप
रेलवे ने पैसेंजर्स के लिए हेल्थ ATM की सुविधा शुरू की है.

रेलवे द्वारा स्टेशनों पर हेल्थ एटीएम लगने के बाद पैसेंजर्स को आसानी से कुछ ही देर में उनकी मेडिकल रिपोर्ट मिल जाती है. इन मशीनों की मदद से पैसेंजर्स को उनके मेडिकल संबंधित 16 तरीके की जानकारियां मिल जाती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 10, 2020, 6:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रेलवे स्टेशनों पर त्वरित मेडिकल रिपोर्ट्स देने के लिए भारतीय रेलवे ने हेल्थ एटीएम की शुरुआत की है. रेलवे की इस पहल के बाद कई पैसेंजर्स और यूजर्स बेहद ही कम कीमत में अपना मेडिकल चेकअप आसानी से करा पा रहे हैं. रेलवे ने इन हेल्थ एटीएम को 'न्यू इनोवेटिव एंड आइडिया स्कीम' के तहत सेटअप किया है ताकि नॉन-फेयर रेवेन्यू जेनरेट किया जा सके.

10 साल पहले रेलवे में आया था नॉन-फेयर रेवेन्यू का कॉन्सेप्ट
नॉन-फेयर रेवेन्यू को सबसे पहली बार साल 2010-11 में शुरू किया गया था. कई सालों के बाद भी रेलवे को इससे कुछ खास कमाई नही हुई थी. हालांकि, पिछले साल रेलवे को इस पहल से अच्छी कमाई हुई है. रेलवे के नागपुर स्टेशन पर एक पैसेंजर के हवाले से अपनी रिपोर्ट में लिखा है, 'मुझे हेल्थ एटीएम की मदद से महज कुछ सेकेंड में ही मेडिकल रिपोर्ट मिल गया.'

यह भी पढ़ें: SBI में है अकाउंट तो 28 फरवरी तक निपटा लें ये काम, वरना खाता हो जाएगा ब्लॉक



60 रुपये में मिल जाती हैं कई जरूरी मेडिकल जानकारी
पैसेंजर ने आगे बताया कि महज कुछ सेकेंड में ही मशीन से उन्हें एक प्रिंटेड स्लिप मिली, जिसमें उनकी मेडिकल जानकारी थी. इस मशीन की मदद से उन्हें आसानी से उनका मास इंडेक्स और हाइड्रेजन लेवल के बारे में जानकारी मिल गई. इस प्रिंटेड स्लिप​ की मदद से उन्हें पता चला कि उनका ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर लेवल सामान्य है, लेकिन बॉडी में प्रोटीन की कमी है. रेलवे पैसेंजर को ये सारी जानकारी महज 60 रुपये खर्च करने पर मिल गई. वहीं, अगर किसी पैथोलॉजिस्ट के पास इस काम के लिए जाना होता तो कम से कम 200 रुपये खर्च करने पड़ते.आसानी से हो जाती है 16 तरीकों की जांच
रेलवे ने अपनी इस रिपोर्ट में बताया कि त्वरित मेडिकल रिपोर्ट देने के लिए इन मशीनों में खास तरीके का प्वाइंट आफ केयर डिवाइस और सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया गया है. इन हेल्थ एटीएम की मदद से एक बार में 16 तरीकों की जांच की जा सकती है. यही कारण है कि रेलवे स्टेशनों पर लगी इन हेल्थ एटीएम मशीनों की सेवा आम लोगों को किफायती दरों पर मुहैया करायी जा रही है.



यह भी पढ़ें: अब घर बैठे बदल सकेंगे ट्रेन बोर्डिंग स्टेशन, बस फॉलो करने होंगे ये 4 स्टेप्स

रेवेन्यू जुटाने में मिलेगी मदद
गौरतलब है कि भारतीय रेल ने अपने रेवेन्यू टार्गेट को पूरा करने के ​लिए हाल ही में रेल किराये में भी इजाफा किया है. लंबी दूरी के ट्रेनों में इस किराया बढ़ोतरी से रेलवे को अनुमानत: 2,300 करोड़ रुपये का रेवेन्यू मिल सकेगा. एक रेलवे अधिकारी के मुताबिक, रेलवे के रेवेन्यू जुटाने में नॉन-फेयर रेवेन्यू एक महत्वपूर्ण भूमिका रखता है. रेलवे को सालाना कुल रेवेन्यू का करीब 10-20 फीसदी नॉन-फेयर रेवेन्यू से आता है. अभी तक केवल विज्ञापन के जरिए ही रेलवे नॉन-फेयर रेवेन्यू जुटाता था.

यह भी पढ़ें: 50 हजार रुपये लगाकर सालाना कमाएं ₹2.50 लाख, शुरू करें इसकी खेती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 5:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर