Home /News /business /

GIC-Reliance Deal: सिंगापुर की बड़ी इन्वेस्टमेंट फर्म GIC करेगी Reliance Retail में 5512.50 करोड़ रुपये का निवेश

GIC-Reliance Deal: सिंगापुर की बड़ी इन्वेस्टमेंट फर्म GIC करेगी Reliance Retail में 5512.50 करोड़ रुपये का निवेश

अबुधाबी इंवेस्‍टमेंट अथॉरिटी ने RIL की सहयोगी कंपनी रिलायंस रिटेल में बड़े निवेश की घोषणा की है.

अबुधाबी इंवेस्‍टमेंट अथॉरिटी ने RIL की सहयोगी कंपनी रिलायंस रिटेल में बड़े निवेश की घोषणा की है.

GIC-Reliance Deal: सिंगापुर की बड़ी इन्वेस्टमेंट फर्म कंपनी GIC ने रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) में 5512.50 करोड़ रुपये के निवेश का ऐलान किया है.

    नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज के रिटेल वेंचर रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) में GIC 1.22 फीसदी हिस्सेदारी कुल 5512.50 करोड़ रुपये में खरीदेगी. इससे पहले अबूधाबी स्थित सॉवरेन फंड मुबादला इनवेस्टमेंट कंपनी ने भी रिलायंस रिटेल में 6,247.5 करोड़ रुपये का निवेश का ऐलान किया. इस निवेश से वह रिलायंस रिटेल वेंचर्स में 1.4 फीसदी हिस्सेदारी हासिल करेगी. रिलायंस रिटेल में कुल निवेश 32 हजार करोड़ के पार पहुंच गया है. कंपनी ने 7.28 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 32,197.50 करोड़ रुपये जुटा लिए है.वैश्विक स्तर के प्रमुख प्राइवेट इक्विटी फंड इस समय रिलायंस इंडस्ट्रीज पर भरोसा जता रहे हैं, इसलिए रिलायंस की दूसरी कंपनियों में निवेश कर रहे हैं. रिलायंस रिटेल वेंचर की फिलहाल वैल्यूएशन 4.28 लाख करोड़ रुपये है, जिस पर यह कंपनियां निवेश कर रही हैं.

    GIC-Reliance Deal-रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक (Mukesh Ambani, Chairman and Managing Director of Reliance Industries) मुकेश अंबानी ने कहा, रिलायंस रिटेल परिवार को GIC का स्वागत करते हुए बहुत खुशी हो रही है. दुनिया भर में लंबी अवधि के सफल निवेश के चार दशकों के करीब के अपने ट्रैक रिकॉर्ड को बरकरार रखने वाली GIC रिलायंस रिटेल के साथ साझेदारी कर रही है. इस बात की मुझे बहुत खुशी है.





    रिलायंस रिटेल के बारे में जानिए- देश के संगठित रिटेल कारोबार में रिलायंस ने 2006 में कदम रखा था. सबसे पहले इस कंपनी ने हैदाराबद में रिलायंस फ्रेश स्टोर खोला था. कंपनी का आइडिया था कि वो नजदीकी बाजार से ग्राहकों को ग्रोसरीज और सब्जियां उपलब्ध कराए. 25,000 करोड़ रुपये की शुरुआत से कंपनी कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, फार्मेसी और लाइफस्टाइल प्रोडक्ट्स उपलब्ध कराना शुरू किया. इसके बाद कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक्स, फैशन और कैश एंड कैरी बिजनेस में भी कदम रखा.

    ये भी पढ़ें-TPG-Reliance Retail Deal: ग्लोबल इन्वेस्टमेंट कंपनी TPG, Reliance Retail में करेगी 1837.5 करोड़ का निवेश 
    इलेक्ट्रॉनिक रिटेल चेन को कंपनी ने 2007 में लॉन्च किया था. इसके बाद 2008 और 2011 में रिलायंस ने फैशन और होलसेल बिजनेस में रिलायंस ट्रेंड्स और रिलायंस मार्केट के जरिए कदम रखा. 2011 तक रिलायंस रिटेल की सेल्स के जरिए कमाई 1 अरब डॉलर के पार पहुंच गई थी. रिलायंस रिटेल की नजर लाखों ग्राहकों और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) को सशक्त बनाने और पसंदीदा साझेदार के रूप में वैश्विक और घरेलू कंपनियों के साथ मिलकर काम करते हुए भारतीय खुदरा क्षेत्र को फिर से संगठित करने पर है.


    डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.undefined

    Tags: Business news in hindi, Reliance, Reliance industries, Reliance Industries deal, Reliance news, Reliance Retail, Reliance retail arm

    अगली ख़बर