GoAir IPO: पैसा रखें तैयार! ये कंपनी आपको देगी मोटी कमाई का मौका, फटाफट चेक करें डिटेल

डिया ग्रुप (Wadia Group) की एयरलाइन गोएयर (GoAir) अब अपना इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO)लाने जा रही है.

डिया ग्रुप (Wadia Group) की एयरलाइन गोएयर (GoAir) अब अपना इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO)लाने जा रही है.

GoAir IPO: वाडिया ग्रुप (Wadia Group) की एयरलाइन गोएयर (GoAir) अब अपना इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) लाने जा रही है. कंपनी 3,600 करोड़ रुपये का आईपीओ लाएगी.

  • Share this:

नई दिल्ली. अगर आप IPO से कमाई करने की सोच रहे हैं तो आपको बेहतरीन मौका मिलने वाला है. वाडिया ग्रुप (Wadia Group) की एयरलाइन गोएयर (GoAir) अब अपना इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO)लाने जा रही है. कंपनी 3,600 करोड़ रुपये का आईपीओ लाएगी. एयरलाइन कंपनी ने कई मुश्किलों का सामना करने के बाद शेयर मार्केट में लिस्टिंग के लिए सेबी (SEBI) के पास दस्तावेज दाखिल किए हैं. इससे पहले भी गोएयर IPO लाने की योजना बनाई थी लेकिन वह पूरी नहीं हो सकी थी. कंपनी ऐसे समय में लिस्टिंग कराने की कोशिश कर रही है जब एविएशन इंडस्ट्री के लिए चुनौतियां बढ़ रही हैं. एयरलाइन ने अपनी गो फर्स्ट के जरिए अपनी रिब्रांडिंग करने का कदम भी उठाया है.

इस नाम से कर रही है वापसी

कंपनी ने अपने ब्रांड नाम को बदलकर 'गो फर्स्ट' (Go First) किया है. यह एयरलाइन बीते 15 साल से ऑपरेट कर रही है. IPO से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल शुरुआती तौर पर कर्ज के पेमेंट के लिए किया जाएगा. कंपनी ने कहा है कि IPO से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल उसके बकाए कर्ज का पेमेंट में किया जाएगा. इसके साथ ही विमानों के पट्टा किराया पेमेंट और भविष्य के रखरखाव में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- LIC की इस पॉलिसी में लगाएं पैसा, नहीं होगी मंथली खर्चे की टेंशन! हर महीने मिलेगा 9 हजार रुपये
जानें क्या है कंपनी का प्लान?

गोएयर की योजना नए शेयर्स जारी कर 3,600 करोड़ रुपये जुटाने की है. इसमें से 2,015 करोड़ रुपये या 56 प्रतिशत का इस्तेमाल कंपनी पर कर्ज का समय से पहले या निर्धारित अवधि पर भुगतान करने की योजना है. इसके अलावा यह अपनी कुछ बकाया रकम चुकाने के लिए भी खर्च करेगी. इसमें इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के 254 करोड़ रुपये शामिल हैं. इसके बाद एयरलाइन के पास एक्सपैंशन और अन्य कंपनी की अन्य जरूरतों के लिए 1,000 करोड़ रुपये से कुछ अधिक बचेंगे.

ये भी पढ़ें- 33 साल का यह शख्स Dogecoin में पैसा लगाकर 4 महीने में ही बन गया करोड़पति! जानें सक्सेस ट्रिक



कंपनी पर 2,900 करोड़ रुपये का है कर्ज

बता दें कि कंपनी पर अभी कुल कर्ज 2,900 करोड़ रुपये से अधिक का है. इसे चुकाने से आने वाले वर्षों में वित्तीय बोझ को कम करने में मदद मिलेगी. पिछले वर्ष इसकी फाइनेंस कॉस्ट 850 करोड़ रुपये से अधिक थी और यह पिछले कुछ वर्षों में बढ़ी है. एंसिलरी रेवेन्यू के लिहाज से इंडिगो और स्पाइसजेट की तुलना में गोएयर पीछे है लेकिन इसकी ऑपरेटिंग कॉस्ट प्रतिद्वंद्वी एयरलाइंस से कम है और मेंटेनेंस कॉस्ट इंडिगो के बराबर है. गोएयर का मार्केट शेयर कई वर्षों से स्थिर है और यह 10 पर्सेंट से अधिक नहीं गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज