GoAir दे रही है होली के बाद कमाई का मौका! कंपनी लाने जा रही है 2500 करोड़ रुपये का IPO

एविएशन सेक्टर की दिग्गज कंपनी गोएयर

एविएशन सेक्टर की दिग्गज कंपनी गोएयर

वाडिया समूह के स्वामित्व वाली कंपनी गोएयर (GoAir) आईपीओ के जरिए प्राइमरी मार्केट से फंड्स जुटाने की तैयारी में है.

  • Share this:
नई दिल्ली. बजट एयरलाइन गोएयर (GoAir) अपनी झोली इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग यानी आईपीओ (Initial Public Offer) से भरने का प्लान बना रही है. आईपीओ के जरिए कंपनी निवेशकों को भी मोटी कमाई करने का मौका देने वाली है. दरअसल, वाडिया समूह के स्वामित्व वाली गोएयर की अगले वित्त वर्ष की शुरुआत में 2,500 करोड़ रुपये का आईपीओ लाने की योजना है.

अप्रैल में SEBI के पास डीआरएचपी फाइल करने की तैयारी

इस आईपीओ के लिए कंपनी अप्रैल 2021 के सेकेंड वीक में मार्केट रेगुलेटर सेबी के पास ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस (DRHP) फाइल कर सकती है. इस मामले से जुड़े सूत्रों ने इससे पहले CNBC-TV18 को बताया था कि 3500 से 4000 करोड़ रुपये जुटाने के लिए गोएयर कंपनी की करीब 25 फीसदी इक्विटी शेयर जारी करेगी लेकिन अब खबरें आ रही हैं कि कंपनी 2500 करोड़ रुपये का आईपीओ लाएगी.

ये भी पढ़ें- बिटक्वाइन को टूटने से नहीं बचा पाया Elon Musk का ट्वीट, कीमतों में आई 10 फीसदी की गिरावट
मार्च, 2020 तक कंपनी पर 1780 करोड़ रुपये का कर्ज

रिपोर्ट के मुताबिक, इस आईपीओ के जरिए जुटाए गए फंड का इस्तेमाल कंपनी अपने कर्ज को चुकाने और वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने में करेगी. आपको बता दें कि मार्च, 2020 तक कंपनी पर 1780 करोड़ रुपये का कर्ज था. सूत्रों के मुताबिक, गोएयर ने इस आईपीओ के लिए आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज (ICICI Securities), सिटी (Citi) और मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) को अपना लीड मैनेजर नियुक्त किया है.

ये भी पढ़ें- ये सरकारी बैंक हुए शॉर्टलिस्ट, जल्द होगा प्राइवेटाइजेशन! RBI गवर्नर ने दिया ये बड़ा बयान



गौरतलब है कि गोएयर 10 इंटरनेशनल रूट्स सहित कुल 30 रूट्स पर अपनी सेवाएं देती है. पिछले महीने कंपनी को बैंकों से 800 करोड़ रुपये का क्रेडिट लाइन मिला, जिससे कोविड के कारण इस संकट वाले समय में कंपनी को अपनी जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी. मार्च, 2020 की एनुअल स्टेटमेंट के मुताबिक, गोएयर में बॉम्बे बुमराह (Bombay Burmah), ब्रिटैनिया (Britannia) और बॉम्बे डाइंग (Bombay Dyeing) की कोई हिस्सेदारी नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज