Home /News /business /

Gold ETF : महंगाई ने बढ़ाई सोने की चमक, निवेशकों ने जमकर लगाया पैसा

Gold ETF : महंगाई ने बढ़ाई सोने की चमक, निवेशकों ने जमकर लगाया पैसा

लगातार बढ़ रही महंगाई के बीच सोने की चमक और बढ़ गई है.

लगातार बढ़ रही महंगाई के बीच सोने की चमक और बढ़ गई है.

Investment in Gold ETF : उच्च महंगाई दर और बाजार मूल्यांकन बढ़ने से Gold ETF निवेशकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. पिछले साल गोल्ड ईटीएफ में 4,814 करोड़ रुपये का निवेश देखने को मिला.

नई दिल्ली. फिजिकल गोल्ड हो या डिजिटल सोना यानी Gold ETF, इसे हमेशा निवेश का बेहतर माना जाता है. खास बात है कि इसमें जोखिम भी नहीं रहता है. लगातार बढ़ रही महंगाई के बीच सोने की चमक और बढ़ गई है. खास बात है कि इसमें निवेशकों का आकर्षण अब भी बना हुआ है. निवेशक सोने में लगातार निवेश कर रहे हैं.

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) का कहना है कि उच्च महंगाई दर (High Inflation Rate) और बाजार मूल्यांकन बढ़ने के कारण गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Gold ETF) निवेशकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. पिछले साल यानी 2021 में गोल्ड ईटीएफ में 4,814 करोड़ रुपये का निवेश देखने को मिला. हालांकि, यह 2020 के 6,657 करोड़ रुपये के मुकाबले कम है.

ये भी पढ़ें- FII ने वैश्विक मंदी के बाद भारतीय शेयर बाजारों में की रिकॉर्ड बिकवाली, इन कंपनियों में तेजी की उम्मीद

इस साल भी बना रहेगा आकर्षण
क्वांटम म्यूचुअल फंड के एमडी एवं सीईओ जिमी पटेल का कहना है कि वैश्विक सुधार और बेहतर निवेशक धारणा से महामारी के साल की तुलना में 2021 में गोल्ड ईटीएफ के प्रवाह में गिरावट आई है. हालांकि, उच्च महंगाई दर और अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व के रुख की वजह से 2022 में भी गोल्ड ईटीएफ में आकर्षण बना रहेगा.

2020 में इसलिए बढ़ा था निवेश
पटेल ने कहा कि अमेरिकी केंद्रीय बैंक के मौद्रिक नीति को सख्त करने से डॉलर और अमेरिका में बॉन्ड यील्ड बढ़ेगा. यह सोने के लिए बाधक बन सकता है. 2020 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश का प्रवाह बढ़ने की प्रमुख वजह महामारी थी. इसके अलावा, मौद्रिक रुख में नरमी और वैश्विक स्तर पर ब्याज दरों में कमी से भी सोने में निवेश फायदे का सौदा था.

ये भी पढ़ें- खुशखबरी! अब Salary के लिए नहीं करना होगा महीना खत्म होने का इंतजार, इस कंपनी में हर सप्ताह मिलेगा वेतन

शेयरों में तेजी के बावजूद बेहतर निवेश
मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक प्रबंधक (शोध) हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि गोल्ड ईटीएफ पूरे साल निवेशकों को आकर्षित करता रहा. शेयरों में उछाल के बावजूद इसका आकर्षण कायम रहा. बीते साल सिर्फ जुलाई में गोल्ड ईटीएफ से निकासी देखने को मिली. जुलाई में निवेशकों ने गोल्ड ईटीएफ से 61.5 करोड़ रुपये निकाले. निवेश के प्रवाह के बीच दिसंबर, 2021 तक स्वर्ण कोषों के प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियां 30 फीसदी बढ़कर 18,405 करोड़ रुपये पर पहुंच गईं, जो एक साल पहले 14,174 करोड़ रुपये थी.

Tags: Gold ETF, Gold price, Gold Rate Today

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर