रिकॉर्ड स्तर से सोना हुआ 6000 रुपये तक सस्ता, इस वजह से आज आ सकती है गिरावट

त्योहार शुरू होने से पहले सोने और चांदी की कीमतों में आई गिरावट
त्योहार शुरू होने से पहले सोने और चांदी की कीमतों में आई गिरावट

Gold Silver Price Today 23 Sep 2020: मंगलवार की भारी बिकवाली के बाद बुधवार को भी विदेशी बाजार में सोना और चांदी की कीमतों में गिरावट देखने को मिली. इसलिए माना जा रहा है कि भारतीय बाजारों में आज फिर से सोने के दाम गिर सकते है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 10:49 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Pandemic) की दूसरी वेव आने की आशंका के चलते निवेशकों ने डॉलर में अब सेफ इन्वेस्टमेंट खरीदारी शुरू कर दी है. इसीलिए अमेरिकी डॉलर (US Dollar) में तेजी का रुख बना हुआ है, जिसका असर सोने और चांदी (Gold Silver Price) की कीमतों पर दिख रहा है. मंगलवार के बाद बुधवार को भी सोने की कीमतों में गिरावट आई है. एमसीएक्स पर अक्टूबर का सोना वायदा 0.4% गिरकर 50,180 प्रति 10 ग्राम पर, जबकि चांदी वायदा 1.6% गिरकर 60,250 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गया. इस सप्ताह दुनिया भर में कीमती धातु की कीमतों में भारी गिरावट आई है. पिछले सत्र में सोने की कीमतों में 100 रुपये की गिरावट आई, वहीं सोमवार को सोने के दाम 1,200 रुपये टूट गए थे.

6000 रुपये तक हुआ सस्ता- पिछले महीने की रिकॉर्ड ऊंचाई से सोने के दाम अब भी करीब 6000 रुपये प्रति दस ग्राम नीचे हैं. 7 अगस्त को एमसीएक्स पर सोने के दाम 56,000 रुपये प्रति दस ग्राम के पार पहुंच गए थे. वहीं, सर्राफा बाजार में दाम 56,200 रुपये प्रति दस ग्राम के स्तर पर पहुंचा था. इसके अब 51 हजार रुपये प्रति दस ग्राम पर है. इस लिहाज से 99.9 फीसदी वाले शुद्ध सोने के दाम 5000 रुपये प्रति दस ग्राम तक कम हो गए है.

ये भी पढ़ें-बड़ी खबर! लोन मोरेटोरियम में ब्‍याज के ऊपर लगने वाले ब्‍याज से जल्द मिल सकती है राहत




विदेशी बाजारों में भी सस्ता हुआ सोना- अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमतों में गिरावट आई है. सपोर्ट प्राइस यानी हाजिर बाजार में आज दाम गिरकर 1900 डॉलर प्रति औेंस पर आ गए है.


इस वजह से आ रही है सोने की कीमतों में गिरावट-
अमेरिकी डॉलर में तेजी का रुख है. डॉलर सूचकांक अन्य मुद्राओं के मुकाबले आठ सप्ताह के शिखर पर पहुंच गया. एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी वेव आने की आशंका के चलते निवेशकों ने डॉलर में अब सेफ इन्वेस्टमेंट खरीदारी शुरू कर दी है. इसीलिए, अमेरिकी डॉलर में तेजी का रुख बना हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज